nielit ccc notes,ccc study material Internet,ccc इंटरनेट का परिचय,सीसीसी क्वेश्चन पेपर इन हिंदी,ccc notes pdf in hindi,LAN,MAN,WAN,STAR topology,WWW

 

Course on Computer Concepts (CCC),Government of India: National Institute of Electronics & Information Technology(NIELIT),nielit ccc book pdf free download,arihant ccc book pdf,nielit ccc book pdf in hindi download,nielit ccc course pdf,arihant study guide ccc pdf in english,nielit o level study material pdf,ccc book pdf in english 2021,nielit online courses 2020,ccc book pdf in english 2020,ccc notes pdf in english 2021,

ccc book pdf in english 2021,ccc exam material pdf,सीसीसी कंप्यूटर कोर्स बुक डाउनलोड इन हिंदी,सीसीसी प्रैक्टिस सेट Hindi medium,सीसीसी कंप्यूटर कोर्स एग्जाम पेपर,सीसीसी कंप्यूटर कोर्स सिलेबस,CCC Objective Question and Answer PDF in Hindi,सीसीसी प्रीवियस पेपर इन हिंदी पीडीएफ,सीसीसी क्वेश्चन पेपर इन हिंदी विथ आंसर,ccc Introduction of Internet & WWW notes in hindi,ccc Introduction of Internet & WWW pdf,ccc Introduction of Internet & WWW pdf in hindi,ccc Introduction of Internet & WWW online test,ccc Introduction of Internet & WWW question paper,ccc Introduction of Internet & WWW questions and answers pdf,ccc Introduction of Internet & WWW online test,ccc Introduction of Internet & WWW questions,ccc Introduction of Internet & WWW questions in hindi,ccc online test 2021,सीसीसी ऑनलाइन टेस्ट,ccc online test os in hindi,Introduction of Internet & WWW,ccc book pdf,LAN (Local Area Network- लोकल एरिया नेटवर्क),MAN (Metropolitan Area Network- मेट्रोपोलिटन एरिया नेटवर्क),WAN (Wide Area Network- वाइड एरिया नेटवर्क),twisted,coaxile cable,Mesh,Star Topology,ccc computer course notes pdf in english.

Introduction of Internet & WWW

इंटरनेट का परिचय एवं डब्ल्यू डब्ल्यू डब्ल्यू

Internet is a global communication system that links together thousands of individual networks. It allows exchange of information between two or more computers on a network. Thus internet helps in transfer of messages through mail, chat, video & audio conference, etc. It has become mandatory for day-to-day activities: bills payment, online shopping and surfing, tutoring, working, communicating with peers, etc.

इंटरनेट एक वैश्विक संचार प्रणाली है जो हजारों व्यक्तिगत नेटवर्क को एक साथ जोड़ती है। यह एक नेटवर्क पर दो या अधिक कंप्यूटरों के बीच सूचनाओं के आदान-प्रदान की अनुमति देता है। इस प्रकार इंटरनेट मेल, चैट, वीडियो और ऑडियो कॉन्फ्रेंस आदि के माध्यम से संदेशों के हस्तांतरण में मदद करता है। यह दिन-प्रतिदिन की गतिविधियों के लिए अनिवार्य हो गया है: बिल भुगतान, ऑनलाइन शॉपिंग और सर्फिंग, ट्यूशन, काम करना, साथियों के साथ संवाद करना, आदि।

In this topic, we are going to discuss in detail about concepts like basics of computer networks, Local Area Network (LAN), Wide Area Network (WAN), concept of internet, basics of internet architecture, services on internet, World Wide Web and websites, communication on internet, internet services, preparing computer for internet access, ISPs and examples (Broadband/Dialup/Wi-Fi), internet access techniques, web browsing software, popular web browsing software, configuring web browser, search engines, popular search engines/search for content, accessing web browser, using favorites folder, downloading web pages and printing web pages.

इस विषय में, हम कंप्यूटर नेटवर्क, स्थानीय क्षेत्र नेटवर्क (LAN), वाइड एरिया नेटवर्क (WAN), इंटरनेट की अवधारणा, इंटरनेट आर्किटेक्चर की मूल बातें, इंटरनेट पर सेवाएं, वर्ल्ड वाइड वेब और जैसी अवधारणाओं के बारे में विस्तार से चर्चा करने जा रहे हैं। वेबसाइट, इंटरनेट, इंटरनेट सेवाओं पर संचार, इंटरनेट एक्सेस के लिए कंप्यूटर तैयार करना, आईएसपी और उदाहरण (ब्रॉडबैंड / डायलअप / वाई-फाई), इंटरनेट एक्सेस तकनीक, वेब ब्राउजिंग सॉफ्टवेयर, लोकप्रिय वेब ब्राउजिंग सॉफ्टवेयर, कॉन्फ़िगर वेब ब्राउजर, सर्च इंजन, लोकप्रिय खोज इंजन / सामग्री की खोज, वेब ब्राउज़र तक पहुँच, पसंदीदा फ़ोल्डर का उपयोग करना, वेब पेज डाउनलोड करना और वेब पेज प्रिंट करना।

OBJECTIVES-

उद्देश्य

In this chapter we will discuss about Basics of Computer Networks, Local Area Network (LAN), Wide Area Network (WAN), Internet, Concept of Internet, Basics of Internet Architecture, Services on Internet, World Wide Web and Websites, Communication on Internet, Internet Services, and Preparing Computer for Internet Access, ISPs and examples (Broadband/Dialup/Wi-Fi), Internet Access Techniques.

इस अध्याय में हम कंप्यूटर नेटवर्क के बेसिक्स, लोकल एरिया नेटवर्क (लैन), वाईड एरिया नेटवर्क विन), इंटरनेट, इंटरनेट के कॉन्सेप्ट, इंटरनेट आर्किटेक्चर की मूल बातें, इंटरनेट पर उपलब्ध सेवाएं, वर्ल्ड वाइड वेब और वेबसाइटस, इंटरनेट पर कम्यनिकेशन, इंटरनेट सर्विसेज, और इंटरनेट एक्सेस करने के लिए कंप्यूटर तैयार करना, आईएसपी और इंटरनेट एक्सेस तकनीकों के उदाहरणों (ब्रॉडबैंड/डायलअप/वाई-फाई), पर चर्चा करेंगे।

Basics of Computer Networks

कम्प्यूटर नेटवर्क के बेसिक

Networking is a technique which is used to make personal computer to multi user behavior. Though the computers having single user multi tasking operating system or network operating system (NOS). By sharing resources and peripheral devices more than one user can work at a single resource or device.

नेटवर्किंग एक ऐसी तकनीक है जिसका प्रयोग पर्सनल कंप्यूटर को मल्टीयूजर बिहेवियर की तरह प्रयोग करने के लिए किया जाता है। हालांकि कंप्यूटर में सिंगल यूजर मल्टीटास्किंग ऑपरेटिंग सिस्टम या नेटवर्क ऑपरेटिंग सिस्टम (एनओएस) होता है। रिोसेस और पेरिफेरल डिवाइसेस को साझा करके एक से अधिक यूजर एक ही रिसोर्स या डिवाइस पर काम कर सकते हैं।

Type of Networking- नेटवर्किंग के प्रकार- नेटवर्क को विभिन्न आधार पर विभाजित किया जाता है। उनमें से मुख्यतः निम्न प्रकार के होते हैं:

Based on Transmission media: Wired (Twisted pair cable, coaxial cables, fiber-optic cables) and Wireless (Radio, Microwave, Infrared, Satellite).डाटा ट्रांसमिशन के माध्यम के आधार पर दो प्रकार के होते है-वायर्ड नेटवर्क और वायरलेस नेटवर्क।

Based on Networksize: LAN, MAN and WAN;नेटवर्क साइज के आधार पर ये भी यह मुख्यतः तीन प्रकार

Based on Management method: Peer-to-peer and client/Server. नेटवर्क मैनेजमेन्ट मेथड के आधार पर भी ये दो प्रकार का होता है- पीयर टू पीयर नेटवर्क और क्लॉइन्ट सर्वर नेटवक।

Based on Topology (connectivity): Bus. Star. Ring, Tree and Mesh. टोपोलॉजी के आधार परः बस। स्टार, रिंग, ट्री और मेस टोपोलॉजी।

Network Media (Transmission Media): नेटवर्क मीडिया (ट्रांसमिशन मीडिया)

This is actual physical environment by which data travels from one computer to another, and it connects network devices. The most basic hardware required for communication is the media through which data is transferred. There are several types of transmission media, and the choice of the right media depends on many factors such as cost of transmission media, efficiency of data transmission and the transfer rate.

यह वास्तविक भौतिक वातावरण है जिसके द्वारा डेटा एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर पर जाता है, और यह नेटवर्क उपकरणों को जोड़ता है। संचार के लिए आवश्यक सबसे बुनियादी हार्डवेयर वह मीडिया है जिसके माध्यम से डेटा स्थानांतरित किया जाता है। ट्रांसमिशन मीडिया के कई प्रकार हैं, और सही मीडिया की पसंद ट्रांसमिशन मीडिया की लागत, डेटा ट्रांसमिशन की। दक्षता और स्थानांतरण दर जैसी कई कारकों पर निर्भर करती है।

This can be divided into two main categories theses are:

इसे दो मुख्य श्रेणियों में विभाजित किया जा सकता है:

1 Guided: Wires, Cables etc.,

2. Unguided: Wireless Transmission, e.g. Radio, Microwave and Infrared Waves.

1 Guided Media-गाइडेड मीडिया

Twisted Pair Cables: A twisted pair consists of a pair of insulated conductors that are twisted together. The advantages of a Twisted Pair cable over the Two Wire Open Lines are, it provides better resistance from false noise signals. As the Two Wires are closed to each other, both pick equal interferences caused by irrelevant signal sources and this reduces the differential signal added by the noise.

ट्विस्टेड पेयर केबल-ट्विस्टेड पेयर केबल एक इन्सुलेटेड कन्डक्टर की जोडी होती है जो एक साथ जुड़े हुए होते है इस मीडिया का एडवांटेज कुछ इस प्रकार है की ये अनावश्यक सिग्नल न्वायज से आपके मेन स्ट्रीम सिग्नल को सुरक्षित रखता है।

Coaxial Cables: Coaxial cable is a round shape cable in which there is a main conductor wire called inner conductor which is covered with thick plastic insulation of a solid plastic, it foils above it and it is wrapped in metal wire The outer conductor is called and the top is the plastic pipe which provides protection to all of these.

कोएक्सिअल केबल–कोएक्सिअल केबल एक गोल आकार की केबल होती है जिसमें एक मुख्य चालक तार होता है जिसे इनर कंडक्टर कहा जाता है जो एक ठोस प्लास्टिक के मोटे इंसुलेशन से ढकी होती है इसके ऊपर फोइल होती है और उस पर धातु के तारों की जाली लिपटी होती है जिसे आउटर कंडक्टर कहा जाता है और सबसे ऊपर प्लास्टिक का पाइप होता है जो इन। सभी को सुरक्षा प्रदान करता है।

Coaxial cable is mostly used in cable TV, it is also used in computer networks, but it is currently used very rarely in the computer network. Larger the cable diameter, lower is the transmission loss, and higher transfer speeds can be achieved. A co-axial cable Fiber Optic cab can be used over a distance of about 1 KM and can achieve a transfer rate of up to 100 MBPS..

कोएक्सिअल केबल का प्रयोग अधिकतर केबल टीवी में होता है इसका प्रयोग कंप्यूटर calong thaty stronomy arm नेटवर्क में भी किया जाता है लेकिन वर्तमान में इसका प्रयोग कंप्यूटर नेटवर्क में बहुत ही कम हो गया है। एक कासार एक्सेस किया जा सकता है।

Fiber-Optic Cables: This carries sigables: This carries signals in the form of fluctuating light in a glass or plastic cable. Cical fiber cable consists of a glass or plastic core surrounded by a cladding of a similar material but with a lower refractive index. with a lower refractive index. The core transmit the light while the change between the core and the cladding causes total internal reflection, thus minimizing the loss of light from fiber.

फाइबर–आप्टिक केबल-इसमें ग्लास या प्लास्टिक केबल में उतार-चढ़ाव की रोशनी के रूप आप्टिकल फाइबर केबल में एक गिलास या प्लास्टिक कोर होता है जो एक समान सामग्रा कथा स्टिक कोर होता है जो एक समान सामग्री के क्लैडिंग से घिरा होता है। लेकिन कम अपवर्तक इन्डेक्स के साथ होता है। का अपवर्तक इन्डेक्स के साथ होता है। कोर प्रकाश को प्रेषित करता है जबकि कोर और क्लेडिग के बीच तक इन्डक्स में परिवर्तन कल आंतरिक प्रतिबिंब का कारण बनता है, इस प्रकार फाइबर स प्रकाश का ला” करता है।

Unguided Media- अनगाईडेड मीडिया

Wireless: Radio, Microwaves & Satellite Channels use electromagnetic broadcast in open space. The advantages of these channels lie in their capabilities to cover large geographical areas. It is less expensive than the wired installation. The differentiation between radio, Microwave & satellite channels lie in the frequencies in which they operate. Frequency below 1000 MHZ are radio frequencies & higher the Microwave frequencies.

वायरलेस–वायरलेस मीडिया जो खुले वातावरण में बिना किसी हार्डवेयर के माध्यम से सिग्नल का लेन-देन करती है जैसे। रेडियो, माइक्रोवेव, सेटेलाइट के माध्यम से इलेक्ट्रोमैग्नेटिक सिग्नल ट्रांसमिट होता हैं। यह गाइडेड मीडिया जैसे ट्विस्टेड पेयर, कोएक्सिअल तथा फाइबर ऑप्टिक्स से सस्ता होता है जिससे ये आसानी से अफोर्ड किया जा सकता है। इस मीडिया के अंतर्गत 1000MHZ फ्रीक्वेंसी के नीचे रेडियो फ्रीक्वेंसी तथा इसके ऊपर माइक्रोवेव फ्रीक्वेंसी होती है।

Network Based on Size: There are kind of networks divided on the basis of size like a network within building or campus is known as Local Area Network and the network which serves entire globe is known as Wide Area Network.

नेटवर्क साइज के आधार पर नेटवर्क मुख्यतः तीन तरह के होते है- पहला लोकल एरिया नेटवर्क, मेट्रो पोलिटन एरिया नेटवर्क तथा वाइड एरिया नेटवर्क।

Basically Network is divided into three parts according to the size.

मुख्यतः साइज के आधार पर नेटवर्क को तीन भागों में बांटा जाता है

LAN (Local Area Network- लोकल एरिया नेटवर्क)
MAN (Metropolitan Area Network- मेट्रोपोलिटन एरिया नेटवर्क)
WAN (Wide Area Network- वाइड एरिया नेटवर्क)

Local Area Networks (LAN)-लोकल एरिया नेटवर्क

A local area network (LAN) is a computer network that interconnects computers within a limited area such as a residence, school, laboratory, university campus or office building.

A local area network (LAN) is a computer network that interconnects computers within a limited area such as a residence, school, laboratory, or office building. A LAN is a network of connected devices that exist within a specific location. LANs may be found in homes, offices, educational institution. or other areas.

A LAN may be wired, wireless, or a combination of the two. A standard wired LAN uses Etherr thier. Wireless LANs are typically connect devices together. Wireless LANs are typically creat created using a Wi-Fi signal. If and Wi-Fi connections, it can be used to create a LAN with both a router supports both Ethernet and Wi-Fi connections, it can be used to created

वायर्ड, वायरलेस या दो का संयोजन हो सकता है। एक मानक वायर्ड लैन. एकलन वायड, वायरलेस या दो का संयोजन होस लिए ईथरनेट का उपयोग करता है। वायरलेस LAN आमतौर पर वाई-फाई सिग्नल का उपकरणों को एक साथ जोड़ने के लिए ईथरनेट का उपयोग करता है। वायरलेगा। कोई राउटर ईथरनेट और वाई-फाई दोनों कनेक्शनों का समर्थन करता है, तो इसका उपयोग करके बनाए जाते हैं। यदि कोई राउटर ईथरनेट और वाई-फाई दो उपयोग वायर्ड और वायरलेस डिवाइस दोनों के साथ LAN बनाने के लिए किया जा सकता है

Characteristics of LANS- लैन की विशेषतायें-

Coverage  area   is generally a few kilometers.कवरेज क्षेत्र आमतौर पर कुछ किलोमीटर हैं ।
Using different dedicated transmission medium you can achieve the transmission rate of 1 Mb/s to 100 Mb/sec or higher, with the further development of LAN technology is currently being developed toward higher speed (e.g. 155Mbps, 655Mbps and 1000Mbps etc.). विभिन्न डेडिकेटेड ट्रांसमिशन मीडियम का उपयोग करके आप1Mb/sसे 100 Mb/secया उससे अधिक ट्रांसमिशन दर प्राप्त कर सकते हैं, लैन प्रौद्योगिकी के आगे के विकास के साथ वर्तमान मेंदो उच्च गति (जैसे 655Mbps and 1000Mbps etc. आदि) का ट्रांसमिशन विकसित किया जा रहा है।

In LAN you can run the multiple devices to share a transmission medium.LANमें आप ट्रांसमिशन माध्यम को साझा करने के लिए कई डिवाइस चला सकते हैं।

You can use the different topology mainly bus and ring in LAN.आप लैन में मुख्य रूप से बस और। रिंग के विभिन्न टोपोलॉजी का उपयोग कर सकते हैं।

The communication quality is better in LAN, the transmission error rate are low as compare to WAN.LANमें संचार गुणवत्ता बेहतर है,WANकी तुलना में ट्रांसमिशन त्रुटि दर कम है।

LAN supports a variety of communications transmission medium such as a Ethernet cable (thin cable, thick cable, and twisted pair), fiber and wireless transmission.LANविभिन्न प्रकार के संचार माध्यमों का समर्थन करता है जैसे ईथरनेट केबल (पतली केबल, मोटी केबल और मुड़ जोडी), फाइबर और वायरलेस ट्रांसमिशन।
A LAN usually has low cost, installation, expansion and maintenance and LAN installation is relatively simple. good scalability.एकLAN में आमतौर पर कम लागत, स्थापना, विस्तार और रखरखाव होता है और LANस्थापना अपेक्षाकृत सरल, अच्छी मापनीयता है।

Metropolitan Area Network (MAN): मेट्रोपोलिटन एरिया नेटवर्क :

A metropolitan area network (MAN) is a network that interconnects users with computer resources in a geographic area or region larger than that covered by even a large local area network (LAN) but smaller than the area covered by a wide area network (WAN). Large universities also sometimes use the term to describe their networks. A recent trend is the installation of wireless MANS.

मेट्रोपोलिटन एरिया नेटवर्क (MAN) जो यूजर को कंप्यूटर रिसोर्सेज द्वारा भौगोलिक क्षेत्र या क्षेत्र जो वैन से छोटा एवं लैन से बढ़ा है उसे मेट्रोपोलिटन एरिया नेटवर्क कहते हैं। बड़े विश्वविद्यालयों को भी कभी कभी अपने नेटवर्क का वर्णन करने के लिए । इन शब्दो का उपयोग करना चाहिए जैसे हाल ही में एक वायरलेस मैन (MAN) की स्थापना हुई है।


Advantages of MAN – मैन के लाभ :- 

The biggestadvantage is the bandwidth of the connecting | links,that means resources shared on the network can be accessed extremely quickly.

Some installations allow multiple users to share the same high-speed Internet connection, thereby sharing the cost of the service and securing a better quality of service through collective bargaining and economies of scale.
मेन में जोड़ने वाली लिंक की बैंडविड्थ को नेटवर्क पर आसानी से एव। जल्दी एक्सेस कर सकते है, कुछ इंस्टालेसन विभिन्न उपयोगकर्ताओं को एक ही उच्च गति के इंटरनेट कनेक्शन का। साझा करने के लिए अनुमति प्रदान करते है।

Wide Area network (WAN) – वाइड एरिया नेटवर्क (वैन)

The network which is spread over the globe and covers entire world, is facilitated to a computer by Internet Service Providers. It is biggest network across the world in that each computer is connected and share or access the data and information. This very network is used all the way now-a-days for e.g. Finance sector, banking Sector Share Markets and many more. Through Wide Area Network, we can access the information Stored far away on the web server in seconds. The only thing we need is to know the address of that data or information stored.


The Wide Area Network can be in the following form.
वाइड एरिया नेटवर्क निम्नलिखित रूपों में जाना जाता है

1. Wireless Network

2. Public Network

3. Private Network

Wireless Network: Wireless networks are an important technology through which we access internet or local network computer or resources very easily. Now-a-days many of universities and industry campus are setting wireless router or antenna which is accessed through Bluetooth or VLAN.

वयरलेस नेटवर्क-वायरलेस नेटवर्क एक महत्वपूर्ण टेक्नोलॉजी है जिसके माध्यम से हम इंटरनेट या स्थानीय नेटवर्क कंप्यूटर या संसाधनों को आसानी से एक्सेस करते हैं। आजकल कई विश्वविद्यालय और उद्योग परिसर वायरलेस राउटर या एंटीना सेट कर रहे हैं जिसे ब्लूटूथ या वीएलएएन के माध्यम से एक्सेस किया जाता है।

Public Network: Public networks are those networks which are installed and run by the telecommunication authorities and are made available to any organization or individual who subscribe. Examples include Public Switched Telephone Networks (PSTN). Public Switched Data Network (PSDN), Value Added Service (VANS/ VADs) and the Integrated Service Digital Networks (ISDN).

पब्लिक नेटवर्क–यह वह नेटवर्क होता है जोकि टेली कम्युनिकेशन कंपनियों द्वारा चलाया जाता है और किसी भी ऑर्गनाईजेशन या व्यक्तिगत सब्सिक्रिप्शन के लिए उपलब्ध होता है। उदाहरण के लिए पब्लिक स्विच्ड टेलीफोन नेटवर्क (पीएसटीएन), पब्लिक स्विच्ड डाटा नेटवर्क (पीएसडीन), वैल्यू ऐडड सर्विस (वीएएस) एवं इंटीग्रेटेड सर्विस डिजिटल नेटवर्क (आईएसडीएन)

Public Switched Telephone Network (PSTN): The features of the PSTN are its low speed, the analog nature of transmission, restricted bandwidth & its wide spread availability. As PSTN is designate for telephones, modems are required when it is used for data communication. पीएसटीएन की विशेषताएं है कम स्पीड, ट्रांसमिशन की एनालॉग प्रकृति, प्रतिबंधित बैंडविड्थ और इसकी व्यापक प्रसार उपलब्धता हैं। चूंकि पीएसटीएन टेलीफोन के लिए नामित है, जब डेटा संचार के लिए इसका उपयोग किया जाता है तो मोडेम की आवश्यकता होती है।

Public Switched Data Network (PSDN): The term PSDN covers a number of technologies; all through currently it is limited to Public Packet Switch Networks available to the public. The main features of all PSDNs are their high label reliability and the high quality of the connection provided. The can support both high & low speeds at appropriate costs. पीएसडीएन में कई टेक्नालॉजी को शामिल किया गया है, वर्तमान में यह जनता के लिए उपलब्ध पब्लिक पैकेट स्विच नेटवर्क तक ही सीमित है। सभी पीएसडीएन की मुख्य विशेषताएं उनकी उच्च लेबल विश्वसनीयता और प्रदान की गई। कनेक्शन की उच्च गुणवत्ता है। वे उचित लागत पर दोना उच्च और निम्न गति का समर्थन कर सकते हैं।

Value Added Network Services (VANS/ VADs): In value added services, the provider of such services must process, store and manipulate the data that is carried on the network, that add value to it. The technique can be used in specific types of business in which it is advantageous to be able to share information with other companies in the same line. वैल्य एडैड सेवाओं में, ऐसी सेवाओं के प्रदाता को नेटवर्क पर किए गए डेटा को प्रोसेस, स्टोर और मैनीपुलेट करना चाहिए जो इसमें वैल्यू जोड़ता है। इस तकनीक का उपयोग विशिष्ट प्रकार के व्यवसाय में किया जा सकता है जिसमें एक ही पंक्ति में अन्य कंपनियों के साथ जानकारी साझा करने में सक्षम होना फायदेमंद है।।

Private Network: The basic technique used in all forms of private WAN is to use private (or more usually teased) circuits to link the locations to be served by the network. Between these fixed points owner of the network has complete freedom to use the circuits in any way they want. They can use the circuit to carry large quantities of data or for high speed transmission.

प्राईवेट नेटवर्क–प्राइवेट नेटवर्क में वैन को एक्सेस करने के लिए प्राइवेट नेटवर्क ओनर अपनी अलग सर्किट से अपने ही एक लाकशन से दूसरे लोकेशन को जोड़ता है। इसमें ओनर को अपने नेटवर्क पर पूर्ण स्वतंत्रता होती है जिससे वह बहुत अधिक। एमाउण्ट में डाटा का ट्रांसमिशन हाई स्पीड से कर सकता है। जैसे रिलायंस कम्पनी का अपना नेटवर्क होता है जिस पर सिर्फ रिलायंस कम्पनी के लोग अलग-अलग स्थानों पर काम करते है।

Network Topology & Protocol- नेटवर्क टोपोलॉजी एवं प्रोटोकॉल –

The topology refers to the configuration of cables, computers, and other peripherals. Topology determines the complexity of connecting computers and therefore the cost of network cable installation. The following sections discuss the different topologies used in networks. The configurations of network components widely use network topologies Bus, Star, Ring Mesh. Here is the brief info of the Network Topologies…

टोपोलॉजी केबल, कंप्यूटर और अन्य बाह्य उपकरणों के विन्यास को संदर्भित करता है। टोपोलॉजी कंप्यूटर को जोड़ने की जटिलता को निर्धारित करती है और इसलिए, नेटवर्क केबल की स्थापना की लागतहै निम्नलिखित नेटवर्क में प्रयुक्त विभिन्न टोपोलॉजी पर चर्चा करते हैं। नेटवर्क घटकों के कॉन्फिगरेशन व्यापक रूप से नेटवर्क टोपोलॉजी बस, स्टार, रिंग मेष का उपयोग करते हैं।

Bus Network Topology-बस नेटवर्क टोपोलॉजी:

A bus network is a network topology in which nodes are connected in a daisy chain by a linear sequence of buses. Alternatively referred to as a line topology, a bus topology is a network setup where each computer and network devices are connected to a single cable which is also known as backbone Bus topology.   A device wanting to communicate with another device on the network sends a broadcast message onto the wire that all other devices see, but only the intended recipient actually accepts and processes the message. A signal from the source is broadcasted and it travels to all workstations connected to bus cable. Although the message is broadcasted but only the intended recipient, whose MAC address or IP address matches, accepts it. A terminator is added at ends of the central cable, to prevent bouncing of signals.

एक बस नेटवर्क एक नेटवर्क टोपोलॉजी है जिसमें नोड्स एक डेजी श्रृंखला में बसों के रैखिक अनुक्रम से जुड़े होते हैं। इसे एक लाइन टोपोलॉजी के रूप में भी जाना जाता है, बस टोपोलॉजी एक नेटवर्क सेटअप है जहां प्रत्येक कंप्यूटर और नेटवर्क डिवाइस एक केबल से जुड़े होते हैं जिसे बस टोपोलॉजी के रीढ़ की हड्डी के रूप में जाना जाता है। नेटवर्क पर किसी अन्य डिवाइस के साथ संवाद करने के लिए एक उपकरण केबिल पर एक प्रसारण संदेश भेजता है जो अन्य सभी डिवाइस देखता है, लेकिन केवल इच्छित प्राप्तकर्ता वास्तव में संदेश स्वीकार करता है और संसाधित करता है। स्रोत से एक संकेत प्रसारित । किया जाता है और यह बस केबल से जुड़े सभी वर्कस्टेशन तक जाता है। हालांकि संदेश प्रसारित किया गया है, लेकिन । केवल इच्छित प्राप्तकर्ता, जिसका मैक पता या आईपी पता मेल खाता है, इसे स्वीकार करता है। सिग्नल की उछाल रोकने के लिए केंद्रीय केबल के सिरों पर एक टर्मिनेटर जोड़ा जाता है।

Advantages (benefits) of Linear Bus Topology – 

लीनियर बस टोपोलॉजी के लाभ -

It is easy to set-up and extend bus network. Bus topology costs very less.
Cable length required for this topology is the least compared to other networks.
Linear Bus network is mostly used in small networks. Good for LAN
यह आसानी से सेटअप हो जाता है यह टोपोलॉजी कम खचीला है। अन्य नेटवर्क टोपोलॉजी की तलना में केवल की आवश्यकता कम है । इसे समझना आसान होता है। यह छाट नेटवर्क में प्रयोग किया जाने वाला नेटवर्क है। जो किसी नेटवर्क का विस्तार करने के लिए आसान होता है।

Disadvantages (Drawbacks) of Linear Bus Topology-लीनियर बस टापाल

There is a limit on central cable length and number of nodes that can be connected.
Dependency on central cable in this topology has its disadvantages. If the main cable encounters some problem, whole network breaks down.
Proper termination is required to dump signals. Use of terminators is must.
It is difficult to detect and troubleshoot fault at individual station. Maintenance costs can get higher with time.

Efficiency of Bus network reduces, as the number of devices connected to it increases. It is not suitable for networks with heavy traffic.
Security is very low because all the computers receive the sent signal from the source.

इसमें  केबल की एक सीमित लंबाई होती है। मुख्य केबल अगर ब्रेक हो जाएं तो पुरा नेटवर्क बंद हो जाता है ।बहुत भारी नेटवर्क में इसकी गति धीमी हो जाती है।यह रिंग टोपोलॉजी से धीमा होता है।

Star Network Topology-स्टार नेटवर्क टोपोलॉजी:

Star networks are one of the most common computer network topologies. Many home networks use the star topology. A star network features a central connection point called a “hub node” that may be a network hub, switch or router. The central hub can be a computer server that manages the network, or it can be a much simpler device that only makes the connections between computers over the network possible. The star topology reduces the damage caused by line failure by connecting all of the systems to a central node. When applied to a busbased network, this central hub rebroadcasts all transmissions received from any peripheral node to all peripheral nodes on the network, sometimes including the originating node. The network is robust in the sense that if one connection between a computer and the hub fails, the other connections remain intact.

स्टार नेटवर्क सबसे आम कंप्यूटर नेटवर्क टोपोलॉजीज में से एक हैं। कई होम नेटवर्क स्टार टोपोलॉजी का उपयोग करते हैं। एक स्टार नेटवर्क में एक केंद्रीय कनेक्शन बिंदु होता है जिसे “हब नोड” कहा जाता है जो नेटवर्क केंद्र, स्विच या राउटर हो सकता है। सेन्ट्रल हब एक कंप्यूटर सर्वर हो सकता है जो नेटवर्क का प्रबंधन करता है, या यह एक बहुत ही सिम्पल डिवाइस है जो नेटवर्क पर कंप्यूटर के बीच कनेक्शन को संभव बनाता है। स्टार टोपोलॉजी सभी सिस्टम को सेन्ट्रल नोड से जोड़कर लाइन विफलता के कारण होने वाली क्षति को कम कर देता है। जब एक बस-आधारित नेटवर्क पर लागू होता है, तो यह सेन्ट्रल हब नेटवर्क पर सभी पेरीफेरल (जुड़े हुए कम्प्यूटर) नोड्स से प्राप्त सभी प्रसारणों को फिर से प्रसारित करता है, कभी-कभी मूल नोड समेत। नेटवर्क इस अर्थ में मजबूत है कि यदि कंप्यूटर और हब के बीच एक कनेक्शन विफल रहता है. तो भी अन्य कनेक्शन बरकरार रहते हैं।

Advantages of Star Network Topology –स्टार नेटवर्कटोपोलॉजीके लाभ

Better performance- बेहतर प्रदर्शन : As compared to Bus topology it gives far much better performance, signals don’t necessarily get transmitted to all the workstations. A sent signal reaches the intended destination after passing through no more than 3-4 devices and 2-3 links. Performance of the network is dependent on the capacity of central hub.

बस टोपोलॉजी की तुलना में यह बहुत बेहतर प्रदर्शन देता है, सिग्नल सभी वर्कस्टेशनों में प्रभावित नहीं होते हैं। एक भेजा गया सिग्नल 3-4 से अधिक डिवाइस और 2-3 लिंक से गुजरने के बाद इच्छित डेस्टिनेशन तक पहुंचता है। नेटवर्क का प्रदर्शन सेन्ट्रल हब की क्षमता पर निर्भर है।

Easy to connect new nodes or devices-नए नोड्स या उपकरणों को जोड़ने में आसान : In star topology new nodes can be added easily without affecting rest of the network. Similarlu components can also be removed easily.

स्टार टोपोलॉजी में नए नोड्स को नेटवर्क के बाकी हिस्सों को प्रभावित किए बिना आसानी से जोड़ा जा सक प्रकार घटकों को भी आसानी से हटाया जा सकता है।

Disadvantages of Star Topology

• Requires more cable length than a linear bus topology.

• एक रैखिक बस टोपोलॉजी की तुलना में अधिक केबल लंबाई की आवश्यकता होती है।

• If the connecting network device (network switch) fails, nodes attached are disabled and cannot participate in computer network communication.

• यदि कनेक्टिंग नेटवर्क डिवाइस (नेटवर्क स्विच) विफल रहता है, तो संलग्न नोड्स अक्षम हैं और कंप्यूटर नेटवर्क संचार में भाग नहीं ले सकते हैं।

• More expensive than linear bus topology because of the cost of the connecting devices (network switches).

• कनेक्टिंग डिवाइस (नेटवर्क स्विच) की लागत के कारण रैखिक बस टोपोलॉजी की तुलना में अधिक महंगा है।

जो दुनिया भर में फैला हुआ है और परी दनिया को कवर करता है, इटरनेट सेवा प्रदाताओं द्वारा कप्यूटरों पर इंटरनेट सुविधा प्रदान करता है। यह दनिया भर में सबसे बड़ा नेटवर्क है जिससे प्रत्येक कंप्यूटर कनेक्ट होता है और डेटा और कारा साझा या एक्सेस करता है। इस नेटवर्क का उपयोग आजकल हर तरह से किया जाता है जैसे कि उदाहरण के पर क्षत्रयाकंग क्षेत्र शेयर बाजार और कई अन्य। वाइड एरिया नेटवर्क के माध्यम से, हम सेकंड मवेब सर्वर पर दर रखा हुइ जानकारी तक पहुंच सकते हैं। हमें केवल उस चीज या जानकारी के पते को जानना हैं |
Axact

Currentjosh

We welcome you all on our education platform currentjosh.in. Here we share study materials all free and contents related to education to help each student personally. Our team members efforts a lot to provide quality and useful selected information for particular subjects and particular topics. Stay in touch with us and with our members who works for this welfare education system and get useful and best study material to get selected.

Post A Comment:

0 comments: