CTET EVS IMPORTANT NOTES ( पर्यावरण अध्ययन के नोट्स हिंदी में ) -

नीचे दिए गए परीक्षा पॉइंटर में  ctet environment question in hindi,ctet environmental studies notes in hindi pdf,ctet evs notes in english pdf,ctet evs notes pdf, ctet environmental studies notes in hindi pdf
ctet environmental studies pedagogical issues,
मिल जाएगी जो की CTET EXAM के लिए महत्वपूर्ण है |

CTET Examination Admit Card 2020: उम्मीदवार ऐसे  डाउनलोड कर सकेंगे
 


03.सजीव जगत ( पेड़ पौधे एवं जन्तु )-PART-1 (भाग-1)

- सजीवों को पाँच जगतों में ......... विभाजित किया था -  आर.एच व्हिटेकर

- जीवाणुओं का अध्ययन ......जगत में किया जाता है - मोनेरा

- जीवाणु विज्ञान के जनक हैं - एंटोनी वॉन ल्यूवेन्हॉक

- .......... के कारण दही जमती है - जीवाणु

- मुख्य रूप से गर्म प्रवण आद्र स्थानों पर पाए जाने वाले जीव हैं - कवक

- बेकरी उद्योग में प्रयोग किये जाने वाला कवक है - यीस्ट (खमीर)

- लाइकेन (शैक) सहजीविता का उदाहरण है। इसमें दो जीव एक साथ रहते हैं एवं        एक-दूसरे को लाभ पहुंचाते हैं। ये दोनों जीव हैं - कवक और शैवाल

- लाइकेन किस प्रकार के प्रदूषण के प्राकृतिक सूचक हैं - वायु प्रदूषण

- पादप जगत के जनक हैं - थियोफ्रेस्टस 

- ............ एक वृक्ष नहीं है -  केला

- अमरबेल उदाहरण है - रेशेदार जड़ का

- आलू, प्याज, अदरक आदि में खाये जाने वाला भाग है- तना

- वाष्पोत्सर्जन होता है- पत्तियों के द्वारा जल का वाष्प के रूप में निकलना 

- प्रकाश संश्लेषण सबसे कम किस रंग में होता है - बैंगनी

-नागफनी (कैक्टस) में प्रकाश संश्लेषण होता है - तने में

- पौधे का प्रजनन अंग है - फूल 

- द्वितीयक जड़ का उदाहरण है - घास

-  सब्जी के रूप में सर्वाधिक प्रयुक्त होने वाला आलू है - तना

- कली का प्रमुख भाग छोटी पत्ती की भाँति दिखाई देता है, वह  कहलाता है - बाह्यदल

- अमरबेल उदाहरण है - परजीवी जड़ का

- खाई जाने वाली जड़ें हैं - गाजर, मूली, शकरकन्द 

- फलों की संरचना को ध्यान से देखने पर अंडाशय के अन्दर छोटी-छोटी गोल संरचना    पाई जाती हैं, ये हैं- बीजाण्ड

- पत्तियों पर शिराओं द्वारा बनाए गए डिजाइन को किस नाम से जाना जाता है - शिरा    विन्यास
- पत्तियों द्वारा बनाया गया भोजन पौधों में जिस रूप में संचित होता है - ग्लूकोज अथवा    सरल शर्करा

- वृक्षों के तने या शाखाओं में से निकली हुई विशेष जड़ें जिस नाम से जानी जाती हैं -    अवस्तम्भ जड़

- हमारे आस-पड़ोस में पाए जाने वाले अधिकतर पेड़-पौधों की पत्तियाँ हरी होती हैं-    पत्तियों में पाए जाने वाले पर्णहरित के कारण

- मरुस्थलीय पौधों की जड़ें मांसल होते हैं, इसका प्रमुख कारण है - खाद्य पदार्थों का      संग्रहण करने के कारण मांसलदार होती है

- उष्ण तथा उपोष्ण कटिबन्ध में पाए जाने वाले पौधे वर्ष में एक बार अपनी पत्तियाँ गिरा    देते हैं। इसका कारण है - ऐसा वाष्पोत्सर्जन रोकने के लिए करते हैं.

- हरे पौधे दिन के समय कार्बन डाइऑक्साइड की बजाय वायुमण्डल में ऑक्सीजन छोड़ते    हैं, क्योंकि- हरे पौधे दिन के समय प्रकाश संश्लेषण की क्रिया करते हैं जिसके कारण    Oxygen मुक्त होती है

- प्रकाश संश्लेषण क्रिया के दौरान ऊर्जा का मुख्य स्रोत है - सौर ऊर्जा

- प्रकाश संश्लेषण की क्रिया के दौरान बनने वाला उत्पाद - कार्बोहाइड्रेट (ग्लूकोज)

- खीरा, खरबूजा, तरबूज, पुदीना हैं - विसर्पि लता।

- मनी प्लांट, मटर, अमरबेल है- आरोही लता

- कमल, हाड्रिला, जललिली उदाहरण हैं- जलोद्भिद 

- नागफनी, एकासिया, यूफोबिया उदाहरण है- मरूद्भिद

- राजस्थान में किस वृक्ष को बचाने के लिए आंदोलन चलाया - खेजड़ी

- जन्तुओं में पाए जाने वाले धारीदार चिह्न जिस कारण से होते हैं - जलवायु

- वह जानवर जो अण्डे देता है - पेंग्विन

- वह जानवर जो पहले अपने एक तरफ के दोनों पैर आगे बढ़ाता है और फिर दूसरी      तरफ के दोनों पैर आगे बढ़ाता है - जिराफ

- हमारे आस-पास में पाए जाने वाले जानवरों में से जिस जानवर का मनोरंजन के लिए    भी उपयोग किया जाता है- बंदर

- सुचि के पास एक पालतू गाय है। उसके अध्यापक ने गाय को स्तनधारी जन्तु बताया,    क्योंकि- यह बच्चा देती है।

- पशुओं को किसी विशिष्ट उद्देश्य के लिए रखना व पालन पोषण करना, कहलाता है -    पशुपालन
- जन्तुओं का वर्गीकरण जिन-जिन आधारों पर होता है- पोषण,आवास, शारीरिक रचना

- युग्म सुमेलित है -  स्तनधारी-बन्दर

- यूग्लीना, अमीबा, पैरामीशियम है- प्रोटोजोआ

- पौधों और जन्तुओं के बीच संयोजक कड़ी है- यूग्लीना

- स्तनधारियों के कान में पाए जाने वाली अस्थि है- मेंलियन,इनकस, स्टेपस

- डॉल्फिन को राष्ट्रीय जलीय जीव घोषित किया गया - 5 अक्टूबर, 2009

- भैंस एवं बगुला के बीच सम्बन्ध है - सहजीवी  सम्बन्ध

- न उड़ने वाली पक्षी है - पेंग्विन

- भारत का राष्ट्रीय पक्षी है - मोर

- एक ऐसा रात्रिचर जीव जो भालू जैसा दिखता है  - स्लॉथ

- ऐसा जलीय जीव जिसको श्वसन के लिए बार-बार पानी से बाहर आना पड़ता है          -डॉल्फिन
- ऐसा जीव जो चलने, चढ़ने तथा उड़ने तीनों कार्यों को कर सकता है - कॉकरोच

- प्रकाश संश्लेषण क्रिया में पादपों के द्वारा वातावरण से गैस अवशोषित की जाती है-      कार्बन-डाई-ऑक्साइड

- काँटेनुमार पत्तियों को दर्शक एक शिक्षक ............. प्रकार के पौधों के बारे में    पढ़ा रहा है - मरुस्थलीय

- एक वृक्ष का उदाहरण है - बरगद

- कीट भक्षी पादप जिस मृदा पर उगते हैं, उसमें .......................तत्व      नहीं होता - नाइट्रोजन

- द्विबीजपत्री पौधा है - सरसों

- पौधों में जल का अधिग्रहण ...........द्वारा होता है-  जाइलम

- विज्ञान के एक शिक्षक को मैंग्रोव पादपों की तलाश हेतु विद्यार्थी को क्षेत्र में खोज के      लिए प्रोत्साहित करना चाहिए - लवणोदभिद दल-दल में

- प्रक्रिया जिसके द्वारा पौधे प्रजनन करते हैं, कहलाती हैं- परागण

- शैक (लाइकेन) है - सहजीवी

- लौंग और केसर पौधे के .भाग से प्राप्त होते हैं- फूल


Axact

Currentjosh

We welcome you all on our education platform currentjosh.in. Here we share study materials all free and contents related to education to help each student personally. Our team members efforts a lot to provide quality and useful selected information for particular subjects and particular topics. Stay in touch with us and with our members who works for this welfare education system and get useful and best study material to get selected.

Post A Comment:

0 comments: