CTET EVS IMPORTANT NOTES ( पर्यावरण अध्ययन के नोट्स हिंदी में ) -

CTET Examination Admit Card 2020: उम्मीदवार ऐसे  डाउनलोड कर सकेंगे

नीचे दिए गए परीक्षा पॉइंटर में ctet evs question in hindi में बनाया गया है- इसमें ctet paper 1 evs notes pdf में मिल जाएगा |
इसमें ctet evs notes pdf में दिया गया है-

इस नोट्स को ctet evs notes in hindi medium pdf को ध्यान में रख कर बनाया है-

01. पर्यावरण -

- एनवायरोनेर (Environer)शब्द .............................. भाषा से लिया गया है - फ्रेंच 

- पर्यावरण के प्रमुख घटक है - प्राकृतिक, मानव निर्मित


- ताप, मृदा, प्रकाश पर्यावरण के ...................... घटक के अन्तर्गत आते हैं - भौतिक

- पर्वत, पठार, मैदान, घाटी पर्यावरण के ...................  क्षेत्र मे आते हैं - वायुमण्डल

- पृथ्वी का दो-तिहाई भाग .................. है - जल मण्डल

-धूल के कण एवं जल वाष्प ...................... में पाये जाते हैं - वायु मण्डल

- तृतीयक श्रेणी का उपभोक्ता है - बाज

-वे जीव जो मृत शरीर के कार्बनिक पदार्थों को साधारण भौतिक तत्वों में अपघटित कर देते हैं, कहलाते हैं - अपघटक

-अगर पौधों को खरगोश खाता, खरगोश को साँप और साँप को मोर, तब सबसे कम ऊर्जा किसको प्राप्त होगी - मोर

- अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर मानव पर्यावरण पर सबसे पहला सम्मेलन हुआ था - 1972 में

- ............................... सम्मेलन मे यह घोषणा की गई की प्रत्येक वर्ष 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस के रूप में मनाया जाएगा - स्टॉकहोम

- एजेण्डा-21 जारी किया गया था - 1992 में

- चिपको आंदोलन की शुरुआत हुई - 1973 में

- पर्यावरण संरक्षण हेतु अप्पिको आंदोलन ................................. राज्य में चलाया गया था - कर्नाटक

- बाबा आमटे और मेधा पाटकर .................................. आंदोलन से सम्बन्धित है - नर्मदा बचाओ आंदोलन

- राजीव गांधी पर्यावरण पुरस्कार दिया जाता है- पर्यावरण के क्षेत्र में अतुलनीय योगदान के लिए औद्योगिक संस्था को

- सर्वाधिक उत्पादक पारिस्थितिकी तंत्र है - उष्णकटिबंधीय वर्षा वन

- खाद्य शृंखला के परस्पर समूह को कहा जाता है- खाद्य जगत

- जैविक पर्यावरण में शामिल है - उत्पादक, उपभोक्ता, अपघटक

- एक अध्यापक मेधा पाटकर व अमृता देवी बिश्नोई के योगदान पर बोल रहा है, क्योंकि- दोनों के आंदोलन पर्यावरण मुद्दों पर हैं

-सन् 1992 में पर्यावरण सुरक्षा से सम्बन्धित प्रथम 'पृथ्वी सम्मेलन' .........................  शहर में हुआ - रियो-डि-जेनेरो

- यदि एक मेढ़क एक टिड्डे को खाता है, तो ऊर्जा का स्थानान्तरण होगा - प्राथमिक उपभोक्ता से द्वितीयक उपभोक्ता को

- पृथ्वी पर ......................... पारिस्थितिक तंत्र सबसे बड़ा है - समुद्र

- पर्यावरण को बचाने के लिए चिपको आंदोलन से ..........................  राज्य जुड़ा है- उत्तराखंड

- द्वितीय श्रेणी का उपभोक्ता है - शेर

- खाद्य शृंखला में ऊर्जा का प्रवाह होता है - एकदिशीय

- पारितंत्र में ऊर्जा का प्राथमिक स्रोत है- सूर्य का प्रकाश

- पर्यावरण अध्ययन का घटक नहीं है - सौर मण्डल

- चिपको आंदोलन के प्रणेता हैं - सुन्दर लाल बहुगुणा

- पर्यावरण संरक्षण पर कौन-सा गैर-सरकारी संघ समर्पित है - WWF

- 'दस प्रतिशत नियम दिया गया - लिण्डमैन द्वारा

- पर्यावरण दिवस मनाया जाता है - 5 जून को

- जलीय पारिस्थितिक तन्त्र का उदाहरण है - तालाब

- जैविक कारक नहीं है - प्रस्तर

- अधिकतर पेड़-पौधे पाये जाते हैं -स्थल मण्डल में

- जैविक घटक है - पादप

- हमारे देश में वन महोत्सव दिवस मनाया जाता है- 1 जुलाई को

- ऊर्जा का पिरामिड होता है - सीधा

- प्राकृतिक एवं सामाजिक-सांस्कृतिक पर्यावरण के बीच अन्तक्रिया का उदाहरण है- वनों की कटाई, शिकार, निर्माण कार्य

- प्राकृतिक पर्यावरण के प्रमुख घटक है - सभी जीव, भू-आकृतिक कारक, जलवायविक कारक

- एक पोषण स्तर से दूसरे पोषण स्तर पर ऊर्जा का ................................. भाग स्थानान्तरित होता है - 10%

- वन्यजीव सप्ताह मनाया जाता है- 1 अक्टूबर से 7 अक्टूबर

- जो खाद्य श्रृंखला घास मैदानों की नहीं है - प्लावक, मछली, ह्वेल

- ...........................नेतृत्व में चिपको आंदोलन को बल मिला - सुन्दर लाल बहुगुणा के

NCERT सजीव जगत (पेड़-पौधे जंतु) के लिए यहाँ क्लिक करें -

Axact

Currentjosh

We welcome you all on our education platform currentjosh.in. Here we share study materials all free and contents related to education to help each student personally. Our team members efforts a lot to provide quality and useful selected information for particular subjects and particular topics. Stay in touch with us and with our members who works for this welfare education system and get useful and best study material to get selected.

Post A Comment:

0 comments: