Hindi Language(हिंदी भाषा)

Quiz-7

(Class - 1-5)


Quiz $\newcommand{\ones}{\mathbf 1}$

Hindi Language (Language - 1)

निर्देश निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर देने के लिए सबसे उचित विकल्प चुनिए।

1. जब बच्चा 'फेल' होता है, तो इसका तात्पर्य है कि
  1. बच्चे ने उत्तरों को सही तरीके से याद नहीं किया है।
    Incorrect.
  2. बच्चे को प्राइवेट ट्यूशन लेनी चाहिए थी।
    Incorrect.
  3. व्यवस्था फेल हुई है।
    Correct! यदि छात्र किसी भी प्रकार से मानसिक रोग से पीड़ित | नहीं है अर्थात सामान्य छात्र यदि परीक्षा में फेल हो जाता है तो इसका तात्पर्य यह है कि शिक्षा व्यवस्था फेल हुई है। शिक्षण से अधिगम पर बल देने वाला परिवर्तन हो सकता है
  4. बच्चा पढ़ाई के लिए योग्य नहीं है।
    Incorrect.

2. एक सशक्त विद्यालय अपने शिक्षकों में निम्नलिखित योग्यताओं में से किसे सर्वाधिक बढ़ावा देगा?
  1. अनुशासित स्वभाव
    Incorrect.
  2. प्रतिस्पर्धात्मक अभिवृत्ति
    Correct! एक सशक्त विद्यालय अपने शिक्षकों में निम्नलिखित योग्यताओं में से सदैव प्रतिस्पर्धात्मक अभिवृत्ति को सर्वाधिक बढ़ावा देगा।
  3. परीक्षण करने की प्रवृत्ति
    Incorrect.
  4. स्मृति
    Incorrect.

3. बीजों का अंकुरण संकल्पना के शिक्षण की सबसे प्रभावी पद्धति है
  1. विद्यार्थियों द्वारा पौधे के बीज बोना और उसके अंकुरण के का अवलोकन करना
    Correct! किसी भी कार्य को यदि प्रयोगात्मक रूप से छात्रों द्वारा करवाकर उसका अध्ययन कराया जायेगा तो वह सबसे प्रभावशाली होगा जैसे छात्रों द्वारा पौधे के बीज बोना और उसके अंकुरण के चरणों का अवलोकन करना।
  2. श्यामपट्ट पर चित्र बनाना और वर्णन करना
    Incorrect.
  3. बीज की वृद्धि के चित्र दिखाना
    Incorrect.
  4. विस्तृत व्याख्या करना
    Incorrect.

4. समावेशी शिक्षा
  1. कक्षा में विविधता का उत्सव मनाती है
    Correct! शिक्षा का समावेशीकरण यह बताता है कि विशेष शैक्षणिक आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए एक सामान्य छात्र और एक दिव्यांग छात्र को समान शिक्षा प्राप्ति के अवसर मिलने चाहिए। इसमें एक सामान्य छात्र एक दिव्यांग छात्र के साथ विद्यालय में अधिकतर समय बिताता है। पहले समावेशी शिक्षा की परिकल्पना सिर्फ विशेष छात्रों के लिए की गयी थी लेकिन आधुनिक काल में हर शिक्षक को इस सिद्धांत को विस्तृत दृष्टिकोण में अपनी कक्षा में व्यवहार में लाना चाहिए।
  2. दाखिले सम्बन्धी कठोर प्रक्रियाओं को बढ़ावा देती है
    Incorrect.
  3. तथ्यों की शिक्षा (मतारोपण) से सम्बन्धित है
    Incorrect.
  4. हाशिए पर स्थित वर्गों से शिक्षकों को सम्मिलित करने से है
    Incorrect.

5. किस प्रकार के प्रश्नों को वस्तुनिष्ठ प्रश्नों की श्रेणी में रखा जाता है?
  1. लघु उत्तरात्मक प्रश्न
    Incorrect.
  2. मुक्त उत्तर वाला प्रश्न
    Incorrect.
  3. निबंधात्मक प्रश्न
    Incorrect.
  4. सत्य या असत्य
    Correct! प्रश्नों के बारे में केवल एक लाइन लिखकर यह पूछा जाना कि वाक्य सत्य है या असत्य इस प्रकार के प्रश्नों को वस्तुनिष्ठ प्रश्नों की श्रेणी में रखा जाता है।

6. निम्नलिखित में से कौन-सी प्रगतिशील शिक्षा की विशेषता है-
  1. केवल प्रस्तावित पाठ्य-पुस्तकों पर आधारित अनुदेशन
    Incorrect.
  2. परीक्षाओं में अच्छे अंक प्राप्त करने पर बल
    Incorrect.
  3. बार-बार ली जाने वाली परीक्षा
    Incorrect.
  4. समय-सारणी और बैठने की व्यवस्था में लचीलापन
    Correct! प्रगतिशील शिक्षा से तात्पर्य है कि विषय वस्तु को समय सारणी के अनुसार पढ़ने में लचीलापन एवं छात्रों के बैठने की व्यवस्था में लचीलापन लाता है।

7. एक शिक्षक प्रश्न-पत्र बनाने के बाद, यह जांच करता है कि क्या प्रश्न परीक्षण के विशिष्ट उद्देश्यों की परीक्षा ले रहे हैं। वह मुख्य रूप से प्रश्न-पत्र की/के बारे में चिंतित है।
  1. सम्पूर्ण विषय-वस्तु को शामिल करने
    Correct! किसी शिक्षक के प्रश्न पत्र बनाने में इसका प्रमुख उद्देश्य होता है सम्पूर्ण विषय-वस्तु को शामिल करना।
  2. प्रश्नों के प्रकार
    Incorrect.
  3. विश्वसनीयता
    Incorrect.
  4. वैधता
    Incorrect.

8. विवेचनात्मक शिक्षा शास्त्र का यह दृढ़ विश्वास है कि
  1. शिक्षार्थियों को स्वतंत्र रूप से तर्कणा नहीं करनी चाहिए
    Incorrect.
  2. बच्चे स्कूल से बाहर क्या सीखते हैं, यह अप्रासंगिक है
    Incorrect.
  3. शिक्षार्थियों के अनुभव और प्रत्यक्ष महत्वपूर्ण होते हैं ।
    Correct! विवेचनात्मक शिक्षा शास्त्र का यह मानना है कि छात्र कोई भी कार्य या विषय सीखने के लिए स्वयं क्रियाकलाप करे, चिंतन करें, तर्क करे तथा अपने अनुभवों को इस प्रकार से संगठित एवं समंजन करे ताकि सीखने में प्रत्यक्ष लाभ हो सके।
  4. एक शिक्षक को हमेशा कक्षा-कक्ष के अनुदेशन का नेतृत्व चाहिए
    Incorrect.

9. विद्यालय-आधारित आकलन मुख्य रूप से किस सिद्धान्त पर आधारित होता है?
  1. बाह्य परीक्षकों की अपेक्षा शिक्षक अपने शिक्षार्थियों की को बेहतर जानते हैं
    Correct! विद्यालय आधारित आकलन विद्यार्थियों की कमजोरियों को पहचान कर उसमें सुधार करने की एक प्रक्रिया है। इस प्रक्रिया में विद्यालय के शिक्षक अपने छात्रों का आकलन करते है क्योंकि वे अपने छात्रों को अच्छी प्रकार से समझने का प्रयास करते हैं।
  2. किसी भी कीमत पर विद्यार्थियों को अच्छे ग्रेड मिलने चाहिए
    Incorrect.
  3. विद्यालय, बाह्य परीक्षा निकायों की अपेक्षा ज्यादा सक्षम हैं
    Incorrect.
  4. आंकलन बहुत किफायती (मितव्ययी) होना चाहिए
    Incorrect.

10. शिक्षार्थी वैयक्तिक भिन्नता प्रदर्शित करते हैं। अतः शिक्षक को
  1. सीखने के विविध अनुभवों को उपलब्ध करना चाहिए
    Correct! यदि शिक्षार्थी वैयक्तिक भिन्नता प्रदर्शित करते हैं तो | शिक्षक को जितना भी सिखाने के तरीकों के बारे में ज्ञात हो उसे सभी प्रकार के अनुभवों को उपलब्ध कराना चाहिए।
  2. कठोर अनुशासन सुनिश्चित करना चाहिए
    Incorrect.
  3. परीक्षाओं की संख्या बढ़ा देनी चाहिए
    Incorrect.
  4. अधिगम की एकसमान गति पर बल देना चाहिए
    Incorrect.

11. निम्नलिखित में से कौन-सा विकास का सिद्धान्त है?
  1. सभी की विकास-दर समान नहीं होती है
    Correct! विकास की प्रक्रिया अविराम गति से निरंतर चलती रहती है पर यह गति कभी तीव्र व कभी मन्द होती है। उदाहरणार्थ शरीर के कुछ भागों का विकास तीव्र गति से और कुछ का मंद गति से होता है।
  2. विकास हमेशा रेखीय होता है
    Incorrect.
  3. यह निरंतर चलने वाली प्रक्रिया नहीं है ।
    Incorrect.
  4. विकास की सभी प्रक्रिया अन्तर्सम्बन्धित नहीं हैं
    Incorrect.

12. मानव विकास को क्षेत्रों में विभाजित किया जाता है जो है
  1. शारीरिक, संज्ञानात्मक, संवेगात्मक और सामाजिक
    Incorrect.
  2. संवेगात्मक, संज्ञानात्मक, आध्यात्मिक और सामाजिक मनोवैज्ञानिक
    Incorrect.
  3. मनोवैज्ञानिक, संज्ञानात्मक, संवेगात्मक और सामाजिक
    Correct! मानव का विकास प्रत्येक क्षेत्र में साथ-साथ होता रहता है साथ ही साथ उनमें आपस में सामंजस्य भी स्थापित होता रहता है और वे एक दूसरे के पूरक के रूप में कार्य करते रहते हैं। मानव विकास में सबसे महत्वपूर्ण होता है मनोवैज्ञानिक विकास इसमें मानव किसी भी कार्य को करने के लिए मानसिक रूप से तैयार होना चाहिए। उसके बाद वह इस क्षेत्र के बारे में जानकारी ले और उसे अपने संज्ञान में लाकर उस पर विचार करे, उसके बाद उस पर अपने विचारों को सोच समझकर उसे प्रस्तुत करे और अन्त में सामाजिक विकास की आवश्यकता होती है।
  4. शारीरिक, आध्यात्मिक, संज्ञानात्मक और सामाजिक
    Incorrect.

13. एक शिक्षिका पाठ्य-वस्तु और फल-सब्जियों के कुछ चित्रों का प्रयोग करती है और अपने विद्यार्थियों से चर्चा करती है। विद्यार्थी इस जानकारी को अपने पूर्व ज्ञान से जोड़ते हैं और पोषण की संकल्पना को सीखते हैं। यह ...................... उपागम पर आधारित है।
  1. अधिगम के शास्त्रीय अनुबंधन
    Incorrect.
  2. पुनर्बलन के सिद्धान्त
    Incorrect.
  3. अधिगम के सक्रिय अनुबंधन
    Incorrect.
  4. ज्ञान के निर्माण
    Correct! ज्ञान के निर्माण को अच्छे तरीके से छात्र के मस्तिष्क में स्थापित करने के लिए उसका चित्र बनाकर उसके बारे में चर्चा करके उन्हें अच्छी तरह से समझाया जा सकता है। साथ ही विषय वस्तु को उनके पूर्व ज्ञान इस प्रकार जोड़ा जाता है ताकि वे नये ज्ञान को सरलता से ग्रहण कर सके। इस प्रकार की प्रक्रिया को ज्ञान के निर्माण के रूप में भी जाना जाता है।

14. जब बच्चे की दादी उसे उसकी माँ की गोद से लेती है, तो बच्चा रोने लगता है। बच्चा ........................ के कारण होता है।
  1. सामाजिक दुश्चिंता
    Incorrect.
  2. संवेगात्मक दुश्चिंता
    Correct! जब बच्चे को उसकी माँ के गोद से अलग किया जाता है तो उसमें मोहवश संवेगात्मक दुश्चिंता उत्पन्न होती है जिसके कारण बच्चा रोने लगता है।
  3. अजनबी दुश्चिंता
    Incorrect.
  4. वियोग दुश्चिंता
    Incorrect.

15. शिक्षा के संदर्भ में, समाजीकरण से तात्पर्य है
  1. अपने सामाजिक मानदंड बनाना
    Incorrect.
  2. समाज में बड़ों का सम्मान करना
    Incorrect.
  3. सामाजिक वातावरण में अनुकूलन और समायोजन
    Correct! शिक्षा, समाजीकरण की प्रक्रिया को सरल बनाती है क्योंकि शिक्षा के माध्यम से मनुष्य सामाजिक मूल्यों, आदशों, व्यवहारों आदि को सीखता है और अपने आपको उसके अनुरूप बनाने का प्रयास करता है।
  4. सामाजिक मानदंडों का सदैव अनुपालन करना
    Incorrect.

16. राज्य स्तर की एक एकल-गायन प्रतियोगिता के लिए विद्यार्थियों को तैयार करते समय एक विद्यालय लड़कियों को वरीयता देता है। यह दर्शाता है।
  1. वैश्विक प्रवृत्तियाँ
    Incorrect.
  2. प्रयोजनात्मक उपागम
    Incorrect.
  3. प्रगतिशील चिंतन
    Incorrect.
  4. लैंगिक पूर्वाग्रह
    Correct! जब किसी संस्था या कक्षा में लिंग के आधार पर किसी एक वर्ग को वरीयता दी जाती है तो इस प्रक्रिया को लैंगिक पूर्वाग्रह के नाम जाना जाता है।

17. वाइगोत्सकी बच्चों के सीखने में निम्नलिखित में से किस कारक की महत्वपूर्ण भूमिका पर बल देते हैं?
  1. आनुवंशिक
    Incorrect.
  2. नैतिक
    Incorrect.
  3. शारीरिक
    Incorrect.
  4. सामाजिक
    Correct! वाइगोत्सकी के अनुसार बालक के संज्ञानात्मक विकास की व्याख्या. उसके सामाजिक-सांस्कृतिक परिवेश के परिप्रेक्ष्य में करनी चाहिए। किसी बालक का सामाजीकरण जिस सामाजिक सांस्कृतिक परिप्रेक्ष्य में हुआ रहता है, उसी के अनुरूप उसमें भाव, विचार दृष्टिकोण एवं मानसिक क्षमताओं का विकास होता है।

18. एक शिक्षिका अपने शिक्षार्थियों की विभिन्न अधिगम | शैलियों को संतुष्ट करने के लिए वैविध्यपूर्ण कार्यों का उपयोग करती है। वह ............................. से प्रभावित है।
  1. कोलबर्ग के नैतिक विकास के सिद्धान्त
    Incorrect.
  2. गार्डनर के बहुबुद्धि सिद्धान्त
    Correct! गार्डनर के बहुबुद्धि के सिद्धांत के अनुसार "बुद्धि का स्वरूप एकांकी न होकर बहुकारकीय होता है। जिस प्रकार शिक्षिका अपने शिक्षार्थियों को विभिन्न अधिगम शैलियों को संतुष्ट करने के लिए वैविध्यपूर्ण कार्यों का उपयोग करती है उससे प्रतीत होता है वह गार्डनर के बहुबुद्धि सिद्धान्त से प्रभावित है।
  3. वाइगोत्सकी के सामाजिक-सांस्कृतिक सिद्धांत
    Incorrect.
  4. पियाजे के संज्ञानात्मक विकास के सिद्धांत
    Incorrect.

19. एक शिक्षिका अपने-आप में कभी भी प्रश्नों के उत्तर नहीं देती। वह अपने विद्यार्थियों को उत्तर देने के लिए, समूह चर्चाएँ और सहयोगात्मक अधिगम अपनाने के लिए प्रोत्साहित करती है। यह उपागम ................................... के सिद्धान्त पर आधारित है।
  1. अनुदेशात्मक सामग्री के उचित संगठन
    Incorrect.
  2. अच्छा उदाहरण प्रस्तुत करना और भूमिका-प्रतिरूप बनना
    Incorrect.
  3. सीखने की तत्परता
    Incorrect.
  4. सक्रिय भागीदारी
    Correct! यदि शिक्षिका अपने-आप में कभी भी प्रश्नों का उत्तर नहीं देती है और यदि वह अपने विद्यार्थियों को उत्तर देने के लिए, समूह चर्चाए और सहयोगात्मक अधिगम अपनाने के लिए प्रोत्साहित करती हैं। तो यह उपागम सक्रिय भागीदारी के सिद्धान्त पर आधारित है।

20. निम्नलिखित में से कौन-सा शिक्षक से सम्बन्धित अधिगम को प्रभावित करने वाला कारक है?
  1. बैठने की उचित व्यवस्था
    Incorrect.
  2. शिक्षण-अधिगम संसाधनों की उपलब्धता
    Incorrect.
  3. विषय-वस्तु या अधिगम-अनुभवों की प्रकृति
    Incorrect.
  4. विषय-वस्तु में प्रवीणता
    Correct! शिक्षण प्रक्रिया में जब शिक्षक अपने विषय में प्रवीण होता है तो वह शिक्षण को अधिक प्रभावी बना सकता है साथ ही साथ उसे अन्य विषयों के बारे में भी सामान्य ज्ञान होने चाहिए।

21. कोहलबर्ग के अनुसार, शिक्षक बच्चों में नैतिक मूल्यों का विकास कर सकता है
  1. धार्मिक शिक्षा को महत्व देकर
    Incorrect.
  2. व्यवहार के स्पष्ट नियम बनाकर
    Incorrect.
  3. नैतिक मुद्दों पर आधारित चर्चाओं में उन्हें शामिल करके
    Correct! कोहलबर्ग के अनुसार बच्चों के नैतिक विकास के लिए उन्हें विभिन्न नैतिक मुद्दों की परिचर्चा में सक्रिय सहभागी बनाना चाहिए साथ ही नैतिक रूप से प्रेरणादायक कहानियों को सुनाकर उनके नैतिक विकास को निर्देशित किया जा सकता है।
  4. 'कैसे व्यवहार किया जाना चाहिए इस पर कठोर निर्देश देकर
    Incorrect.

22. छोटे शिक्षार्थियों को कक्षा-कक्ष में समवयस्कों के साथ अन्तः क्रिया करने के लिए प्रोत्साहित करना चाहिए जिससे
  1. वे एक-दूसरे से प्रश्नों के उत्तर सीख सकें
    Incorrect.
  2. पाठ्यक्रम को बहुत जल्दी पूरा किया जा सके
    Incorrect.
  3. वे पढ़ने के दौरान सामाजिक कौशल सीख सकें
    Correct! छोटे शिक्षार्थियों को कक्षा-कक्ष में समवयस्कों के साथ अन्तः क्रिया करने के लिए प्रोत्साहित करना चाहिए जिससे वे पढ़ने के दौरान सामाजिक कौशल सीख सकें।
  4. शिक्षा कक्षा-कक्ष को बेहतर तरीके से नियंत्रित कर सकें
    Incorrect.

23. जब एक निर्योग्य बच्चा पहली बार विद्यालय आता है तो शिक्षक को क्या करना चाहिए?
  1. बच्चे की निर्योग्यता के अनुसार उसे विशेष विद्यालय में का प्रस्ताव देना चाहिए
    Incorrect.
  2. उसे अन्य विद्यार्थियों से अलग रखना चाहिए
    Incorrect.
  3. सहकारी योजना विकसित करने के लिए बच्चे को माता के साथ चर्चा करनी चाहिए
    Correct! जब एक निर्योग्य बच्चा पहली बार विद्यालय आता है सरकारी योजना विकसित करने के लिए बच्चे के माता-पिता के साथ चर्चा करनी चाहिए।
  4. प्रवेश-परीक्षा लेनी चाहिए
    Incorrect.

24. पियाजे के संज्ञानात्मक विकास के चरणों के अनुसार, इंद्रिय-गामक (संवेदी-प्रेरक) अवस्था किसके साथ सम्बन्धित है?
  1. अनुकरण, स्मृति और मानसिक निरूपण
    Correct! इंद्रिय गामक (संवेदी-प्रेरक) अवस्था का विस्तार 2 वर्ष तक माना गया है। इस अवस्था में बालक व्यवहार, भाषा आदि का अनुकरण करने लगता है। दूरी, ऊंचाई, गहराई, समय एवं दिशा का भी ज्ञान होने लगता है। 12 से 18 माह की अवस्था तक वह नवीन वस्तुओं को समझने का प्रयास करने लगता है इसके बाद उसमें प्रतिकात्मक चिंतन, परिकल्पना आदि दिखने लगाता है।
  2. तार्किक रूप से समस्या समाधान की योग्यता
    Incorrect.
  3. विकल्पों के निर्वचन और विश्लेषण करने की योग्यता
    Incorrect.
  4. सामाजिक मुद्दों से सरोकार
    Incorrect.

25. मानव-व्यक्तित्व परिणाम है
  1. पालन-पोषण और शिक्षा का
    Incorrect.
  2. आनुवंशिकता और वातावरण की अन्तः क्रिया का
    Correct! मानव-व्यक्तित्व आनुवंशिकता और वातावरण की अन्तः क्रिया का परिणाम है।
  3. केवल वातावरण का
    Incorrect.
  4. केवल आनुवंशिकता का
    Incorrect.

26. शिक्षण-अधिगम प्रक्रिया में व्यक्तिगत रूप से ध्यान देना महत्वपूर्ण है, क्योंकि
  1. शिक्षार्थी हमेशा समूहों में ही बेहतर सीखते हैं।
    Incorrect.
  2. शिक्षक प्रशिक्षण कार्यक्रमों में ऐसा ही बताया गया है।
    Incorrect.
  3. इससे प्रत्येक शिक्षार्थी को अनुशासित करने के लिए को बेहतर अवसर मिलते हैं।
    Incorrect.
  4. बच्चों की विकास दर भिन्न होती है और वे भिन्न तरीकों सीख सकते हैं।
    Correct! शिक्षण-अधिगम प्रक्रिया में व्यक्तिगत रूप से ध्यान देना महत्वपूर्ण है, क्योंकि बच्चों की विकास दर भिन्न होती है और वे भिन्न तरीकों से सीख सकते हैं।

27. निम्नलिखित में से कौन-सी समस्या समाधान की वैज्ञानिक पद्धति का पहला चरण है?
  1. परिकल्पना का परीक्षण करना
    Incorrect.
  2. समस्या के प्रति जागरूकता
    Correct! किसी भी प्रकार की समस्या समाधान का पहला चरण समस्या के बारे में जानना होता है इसे वैज्ञानिक भाषा में समस्या के प्रति जागरूकता के नाम से जाना जाता है।
  3. प्रासंगिक जानकारी को एकत्र करना
    Incorrect.
  4. परिकल्पना का निर्माण करना
    Incorrect.

28. निम्नलिखित में से कौन-सा सीखने का क्षेत्र है:
  1. आनुभविक
    Incorrect.
  2. भावात्मक
    Correct! भावात्मक का तात्पर्य है कि मनोवृत्ति वस्तु के प्रति व्यक्ति में उत्पन्न सकारात्मक भाव यानि सुखद भाव जो अधिगम को सुगम बनाते हैं।
  3. आध्यात्मिक
    Incorrect.
  4. व्यावसायिक
    Incorrect.

29. जब बच्चा कार्य करते हुए ऊबने लगता है, तो यह इस बात का संकेत है कि
  1. संभवतः कार्य यांत्रिक रूप से बार-बार हो रहा है
    Correct! भावात्मक का तात्पर्य है कि मनोवृत्ति वस्तु के प्रति व्यक्ति में उत्पन्न सकारात्मक भाव यानि सुखद भाव जो अधिगम को सुगम बनाते हैं।
  2. बच्चा बुद्धिमान नहीं है
    Incorrect.
  3. बच्चे में सीखने की योग्यता नहीं है
    Incorrect.
  4. बच्चे को अनुशासित करने की जरूरत है
    Incorrect.

30. प्रायः शिक्षार्थियों की त्रुटियां.... की ओर संकेत करती हैं।
  1. वे कैसे सीखते हैं
    Incorrect.
  2. यांत्रिक अभ्यास की आवश्यकता
    Correct! शिक्षार्थी सीखने में त्रुटि तब अधिक करते हैं जब वे उस कार्य को गलत तरीके से सीख रहे हों, या अभ्यास न हो, या रूचि, आंतरिक प्रेरणा आदि की कमी हो। इसलिए सीखने में सबसे पहली आवश्यकता है कि सही तरीके से सीखा जाय अर्थात यांत्रिक अभ्यास की आवश्यकता सबसे महत्वपूर्ण है।
  3. सीखने की अनुपस्थिति
    Incorrect.
  4. शिक्षार्थियों के सामाजिक-आर्थिक स्तर
    Incorrect.

Axact

Currentjosh

We welcome you all on our education platform currentjosh.in. Here we share study materials all free and contents related to education to help each student personally. Our team members efforts a lot to provide quality and useful selected information for particular subjects and particular topics. Stay in touch with us and with our members who works for this welfare education system and get useful and best study material to get selected.

Post A Comment:

0 comments: