बाल-विकास एवं शिक्षाशास्त्र

Child Development & Pedagogy

Quiz - 17

(Class 6-8)



Important CTET Quiz Questions in hindi,CTET Quiz for 2019,CTET Exam Quiz in Hindi,Important Pedagogy Quiz For Teaching Jobs,CTET Important Questions in Hindi,Ctet Ka Questions in Hindi,Ctet Questions 2019,Ctet Prashna patra,Ctet Questions of Child Development and Pedagogy,Child Development Questions,Child Development and Pedagogy previous Year Questions,Child Development and Pedagogy Solved Questions,Child Development Objective Questions,बाल-विकास एवं शिक्षाशास्त् Ctet Questions,बाल-विकास एवं शिक्षाशास्त् Quiz,बाल-विकास एवं शिक्षाशास्त् Multiple choice quiz,बाल-विकास एवं शिक्षाशास्त् Quiz Questions, बाल-विकास एवं शिक्षाशास्त् Quiz questions in hindi,बाल-विकास एवं शिक्षाशास्त् Ctet Quiz Questions,बाल-विकास एवं शिक्षाशास्त् Previous Year Questions,बाल-विकास एवं शिक्षाशास्त् Solved Questions.बाल-विकास एवं शिक्षाशास्त् prashna patra,बाल-विकास एवं शिक्षाशास्त् quiz 2019.

Quiz $\newcommand{\ones}{\mathbf 1}$

Child Development & Pedagogy

निर्देश : निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर देने के लिए सही/सबसे उपयुक्त विकल्प चुनिए।

1. पियाजे के अनुसार, विकास को प्रभावित करने में निम्नलिखित कारकों में से किसकी भूमिका महत्वपूर्ण होती है?
  1. भाषा
    Incorrect.
  2. पुनर्बलन
    Incorrect.
  3. भौतिक विश्व के साथ अनुभव
    Correct! जीन पियाजे के अनुसार विकास को प्रभावित करने में भौतिक/सांसारिक अनुभवों की सबसे महत्वपूर्ण भूमिका होती है क्योंकि पियाजे के अनुसार अलग-अलग अवस्थाओं में बालक अपने मानसिक क्षमता के द्वारा आस-पास की वस्तुओं को देखकर अपने बौद्धिक विकास को अग्रसर करता है।
  4. अनुकरण
    Incorrect.

2. -पूर्व-संक्रियात्मक काल में आने वाली संज्ञानात्मक योग्यता है
  1. अमूर्त चिंतन की योग्यता
    Incorrect.
  2. अभिकल्पनात्मक निष्कर्ष चिंतन
    Incorrect.
  3. लक्ष्य-उद्दिष्ट व्यवहार की योग्यता
    Correct! पूर्व-संक्रियात्मक अवस्था की अवधि 2 से 6 वर्ष तक माना गया है। पियाजे के अनुसार इस अवस्था में बच्चे अहंकेन्द्रित हो जाते है, वे चीजों को स्वयं से सम्बद्ध करके देखने लगते है। इस अवस्था में बच्चे लक्ष्य उदृष्ट व्यवहार की योग्यता सीख लेते है। इसी अवस्था में संकेतात्मक कार्यों का प्रादुर्भाव तथा भाषा का प्रयोग प्रारम्भ हो जाता है।
  4. दूसरे के दृष्टिकोण को समझने की योग्यता
    Incorrect.

3. निम्नलिखित में से किस एक जोड़े का मिलान ठीक हुआ है?
  1. दंड देना और आज्ञापालन अभिविन्यास-नियम तय नहीं किंतु समाज के हित में बदले जा सकते हैं
    Incorrect.
  2. सामाजिक संविदा अभिविन्यास-किसी कार्य के भौतिक निर्धारित करते हैं कि वह अच्छा है या बुरा
    Correct! किसी भी समाज का एक निश्चित मानदण्ड होता है। जिससे उसके सभी कार्य निर्देशित व संचालित होते है। समाज उन्हीं कार्यों को अच्छा मनता है जो उसके मानदण्डों पर खरा उतरता है। इसलिये सामाजिक संविदा अभिविन्यास किसी कार्य के भौतिक परिणाम निर्धारित करते है कि वह अच्छा है या बुरा।
  3. अच्छा लड़का व अच्छी लड़की अभिविन्यास-अच्छा कोई स्वीकृति प्राप्त करता है।
    Incorrect.
  4. नियम और आदेश अभिविन्यास-मानवाधिकारों के मूल्य आधार पर नैतिक सिद्धांत स्वयं चुने जाते हैं
    Incorrect.

4. वाइगोत्स्की की संस्कृति के अनुसार, बच्चों की 'व्यक्तिगत वाक्' की संकल्पना
  1. स्पष्ट करती है कि बच्चे अहं-केंद्रित होते हैं
    Correct! वाइगोत्स्की के संज्ञानात्मक विकास के सिद्धांत को सामाजिक सांस्कृतिक सिद्धान्त' भी कहते हैं क्योंकि वाइगोत्स्की ने संज्ञानात्मक विकास के लिए सामाजिक कारकों पर अधिक जोर दिया है। वाइगोत्स्की की संस्कृति के अनुसार वे बच्चे जो व्यक्तिगत वाक् की स्वतंत्रता पर अत्यधिक जोर देते हैं वे मुख्यतः अहमकेन्द्रित होते हैं।
  2. प्रदर्शित करती है कि बच्चे बुद्ध होते हैं इसलिए उन्हें के निर्देशन की आवश्यकता होती है
    Incorrect.
  3. प्रदर्शित करती है कि बच्चे अपने-आप से प्यार करते हैं
    Incorrect.
  4. स्पष्ट करती है कि बच्चे अपने ही कार्यों के निर्देशन के भाषा का उपयोग करते हैं।
    Incorrect.

5. वाइगोत्स्की के अनुसार, सीखने को पृथक नहीं किया जा सकता
  1. उसके सामाजिक संदर्भ से
    Correct! वाइगोत्स्की ने संज्ञानात्मक विकास से सम्बन्धित सामाजिक सांस्कृतिक विकास की अवधारणा को बताया। इसके अनुसार संज्ञानात्मक विकास एक अंतर्वैयक्तिक सामाजिक परिस्थितियों में सम्पन्न होता है तथा बालक जो कुछ सीखता है उस पर उसके सामाजिक मूल्यों का प्रभाव अवश्य होता है। अतः सीखने को सामाजिकता से पृथक नहीं किया जा सकता।
  2. अवबोधन और अवधानात्मक प्रक्रियाओं से
    Incorrect.
  3. पुनर्बलन से
    Incorrect.
  4. व्यवहार में मापने योग्य परिवर्तन से
    Incorrect.

6. प्रगतिशील शिक्षा में अपरिहार्य है कि कक्षा-कक्ष
  1. लोकतांत्रिक होता है और समझने के लिए बच्चों को स्थान दिया गया होता है |
    Correct! प्रगतिशील शिक्षा वह होती है जिसमें बालक स्वतंत्रता पूर्वक अबाध रूप से शिक्षा ग्रहण करते हैं तथा वहां का वातावरण भी प्रजातांत्रित होना चाहिए अत: प्रगतिशील शिक्षा में अपरिहाय होता है कि कक्षा कक्ष वातावरण लोकतांत्रिक हो समझने के लिए बच्चों को पर्याप्त समय एवं स्थान दिया गया हो।
  2. शिक्षक के पूर्ण नियंत्रण में होता है जिसमें वह अधिनायकत्व
    Incorrect.
  3. सत्तावादी होता है, जहाँ शिक्षक आदेश देता है और चुपचाप अनुसरण करते हैं
    Incorrect.
  4. सबके लिए मुक्त होता है जिसमें शिक्षक अनुपस्थित है
    Incorrect.

7. निम्नलिखित में से कौन-सा एक उदाहरण भाषिक बुद्धि वाले व्यक्ति को दर्शाता है-
  1. शब्दों के अर्थ और क्रम तथा भाषा के विविध प्रयोगों प्रति संवेदनशीलता
    Correct! भाषिक बुद्धि से तात्पर्य शब्दों व वाक्यों की बोध क्षमता| इस बुद्धि वाले व्यक्ति शब्दों के अर्थ और क्रम तथा भाषा के प्रयोग के प्रति संवेदनशील होते है।
  2. तर्क की दीर्घ श्रृंखलाओं को संभाल सकने की योग्यता
    Incorrect.
  3. स्वर,राग और सुर के प्रति संवेदनशीलता
    Incorrect.
  4. ध्यान देने और दूसरे से अंतर कर सकने की योग्यता
    Incorrect.

8. भाषा
  1. विचार-प्रक्रिया को प्रभावित नहीं करती
    Incorrect.
  2. विचार-प्रक्रिया का निर्धारण नहीं कर सकती
    Incorrect.
  3. हमारी विचार-प्रक्रिया को पूरी तरह से नियंत्रित करती है
    Incorrect.
  4. हमारी विचार-प्रक्रिया को प्रभावित करती है
    Correct! भाषा वह माध्यम है जिसके द्वारा हम अपने विचारों को मरे से अवगत कराते हैं अतः भाषा प्रत्येक व्यक्ति के विचार प्रक्रिया को प्रभावित करती है।

9. कक्षा VIII की एक पाठ्य-पुस्तक में इस प्रकार के चित्र हैं- शिक्षिका एवं घरेलू काम करने वाली के रूप में महिला, जबकि, डॉक्ड एवं पाइलट के रूप में पुरुष। इस प्रकार के चित्र से बढ़ सकती/सकता है।
  1. लिंग रूढ़िबद्धता
    Correct! लिंग को आधार बनाकर कार्य का निर्धारण करने की शिक्षा देने से तथा इस प्रकार के चित्र पाठ्य पुस्तकों में करने से लिंग रूढ़िबद्धता बढ़ सकती है।
  2. लिंग सशक्तिकरण
    Incorrect.
  3. लिंग भूमिका निर्वाह खेल
    Incorrect.
  4. लिंग स्थिरता
    Incorrect.

10. शिक्षार्थियों में बहुत विभिन्नताएँ होती है। इनमें से किस/किस के लिए शिक्षक को संवेदनशील होने की आवश्यकता है?

(I) संज्ञानात्मक क्षमताओं और सीखने के स्तरों पर आधारित भिन्नताएँ

(II) भाषा, जाति, लिंग, धर्म, समुदाय की विविधता पर आधारित भिन्नताएँ

नीचे दिए गए कूट के आधार पर सही उत्तर चुनिए।
  1. केवल I
    Incorrect.
  2. न तो I औन न ही II
    Incorrect.
  3. केवल II
    Incorrect.
  4. I और II दोनों
    Correct! प्रत्येक छात्र में संज्ञानात्मक क्षमताओं, सीखने के स्तरों, भाषा, जाति, लिंग, धर्म, समुदाय आदि आधार पर भिन्नता पायी जाती है। जब शिक्षक इन भिन्नताओं के प्रति संवेदनशील होकर शिक्षण कार्य करता है तो यही भिन्नतायें बालक के अधिगम को भाभी बनाती है किन्तु जब शिक्षक इन भिन्नताओं पर ध्यान नहीं ता है तो यह बालक के अधिगम में अवरोध उत्पन्न करते है।

11. केवल कागज-पेंसिल जाँचो द्वारा आंकलन
  1. आकलन को सीमित कर देता है
    Correct! केवल कागज-पेंसिल से किया गया आंकलन समिति होता है क्योंकि किसी व्यक्ति या बालक का आकलन करने के लिए उसके सभी पक्षों का अवलोकन एवं जाँच आवश्यक है जैसे-भाषा, शारीरिक आदि कागज पेंसिल से केवल बौद्धिकता का आकलन किया जा सकता है अतः इस प्रकार का आकलन सीमित होता है |
  2. सकल आकलन को बढ़ावा देता है
    Incorrect.
  3. समग्र मूल्यांकन को सुविधा प्रदान करता है
    Incorrect.
  4. निरंतर मूल्यांकन को सुविधा प्रदान करता है
    Incorrect.

12. माध्यमिक विद्यालय की कक्षा में शिक्षक के पास एक 'बधिर' बच्चा है। उसके लिए यह महत्वपूर्ण है कि
  1. वह बच्चे को उस स्थान पर बैठाए जहाँ से यह शिक्षिका होंठ तथा चेहरे के भाव साफ तौर पर देख सके
    Correct! राष्ट्रीय पाठ्यचर्या कार्यक्रम की घोषणा के अनुसार नकारात्मक विशिष्ट बालकों की श्रेणी में आने वाले बालकों को भी विशेष विद्यालय के स्थान पर नियमित कक्षाओं में ही शिक्षा दी जाए। अतः कक्षा में उपस्थित बधिर बालक को शिक्षिका के द्वारा ऐसे स्थान पर बिठाना चाहिए जहाँ से वह शिक्षिका के ओंठ तथा चेहरे के भाव को साफ तौर पर देख सके ताकि शिक्षिका द्वारा कराए जा रहे अधिगम कार्य को समझ सके तथा उसका लाभ ले सके।
  2. विद्यालय सलाहकार (काउंसलर) से कहे कि वे बच्चे के से बात करे तथा उन्हें अपने बच्चे को से हटाने के लिए कहे
    Incorrect.
  3. उसके प्रति संकेत करे जिसे वह बच्चा बार-बार भी नहीं पा रहा
    Incorrect.
  4. बच्चे को डांट-फटकार कर उसे अलग स्थान पर बैठाए वह बधिर केन्द्र में प्रवेश ले ले
    Incorrect.

13. एक शिक्षक समाज के 'वंचित वर्ग के बच्चों की आवश्यकताओं को प्रभावपूर्ण तरीके से पूरा कर सकता है।
  1. उनकी पृष्ठभूमि की अपेक्षा करके तथा उन्हें विद्यालय में करने के लिए कहकर
    Incorrect.
  2. कक्षा-कक्ष के प्रत्येक बच्चे की आवश्यकतानुसार अपना अपनाकर
    Correct! अपने शिक्षण कौशल का प्रयोग करके एक शिक्षक समाज के 'वंचित वर्ग' के बच्चों की आवश्यकताओं को प्रभावपूर्ण तरीके से पूरा कर सकता है। इससे 'वंचित वर्ग. के बचे के अन्दर आत्मविश्वास की वृद्धि होगी।
  3. उन्हें कक्षा-कक्ष में अलग स्थान पर बैठाकर, ताकि वे बच्चों से मेल-जोल न करे
    Incorrect.
  4. अन्य बच्चों को वंचित पृष्ठभूमि वाले बच्चों के प्रति व्यवहार करने के लिए कहकर
    Incorrect.

14. अधिगम-निर्योग्यता वाले बच्चे
  1. बहुत बुद्धिमान तथा परिपक्व होते हैं
    Incorrect.
  2. बहुत सक्रिय होते हैं, लेकिन उनकी बुद्धि-लब्धि कम है
    Incorrect.
  3. कुछ भी नहीं सीख सकते
    Incorrect.
  4. अधिगम के कुछ पक्षों से संघर्ष करते हैं ।
    Correct! अधिगम निर्योग्यता वाले बालक वे होते हैं जो अधिगम कार्य आसानी से नहीं कर पाते हैं तथा वे कठिनाई का अनुभव करते हैं। अत: बालकों को अधिगम के कुछ पक्षों से संघर्ष करना पड़ता है।

15. शिक्षक बच्चों को सृजनात्मक विचारों के लिए प्रोत्साहित कर सकता है
  1. उन्हें बहु-विकल्पी प्रश्न देकर
    Incorrect.
  2. उन्हें बहु-विकल्पी प्रश्न देकर
    Incorrect.
  3. उन्हें उत्तर कंठस्थ करने के लिए कहकर
    Incorrect.
  4. उनसे प्रत्यास्मरण-आधारित प्रश्न पूछकर
    Correct! सृजनात्मकता एक गुण है जिसमें बालक किसी नये विचार या वस्तु की उत्पत्ति के बारे में चिंतन करता है इस तरह के बालक किसी समस्या को नियमबद्ध होकर समाधान नहीं करते बल्कि नियम से अलग होकर किसी और मार्ग की तलाश करते है अतः बच्चों में सजनशील विचारों को प्रोत्साहित करने लिए शिक्षक द्वारा बच्चों को समस्या समाधान के लिए विभिन्न तरीकों से सोचने के लिए प्रोत्साहित करना चाहिए।

16. विशेष आवश्यकताओं वाले बच्चों से व्यवहार करने के लिए निम्नलिखित दार्शनिक दृष्टिकोणों में से किसका अनुसरण किया जाना चाहिए?
  1. उन्हे किसी प्रकार की शिक्षा की आवश्यकता ही नहीं होती
    Incorrect.
  2. उन्हें समावेशी शिक्षा का और नियमित विद्यालयों में करने का अधिकार प्राप्त है
    Correct! राष्ट्रीय पाठ्यचर्या कार्यक्रम की घोषणा के अनुसार विशेष आवश्यकता वाले बच्चे अर्थात नकारात्मक विशिष्ट बालक को भी समावेशी शिक्षा का और नियमित विद्यालयों में अध्ययन करने का अधिकार प्राप्त है।
  3. उन्हें पृथक करे उनकी शिक्षा किसी भिन्न शैक्षिक में होनी चाहिए
    Incorrect.
  4. उन्हें केवल व्यावसायिक प्रशिक्षण दिया जाना चाहिए
    Incorrect.

17. अधिगमकर्ता-केन्द्रित विधि का आशय है
  1. वे विधियाँ, जहाँ अधिगम में अधिगमकर्ता की अपनी तथा प्रयास सम्मिलित होते हैं
    Correct! अधिगमकर्ता- केन्द्रित विधि का तात्पर्य ऐसी विधि से है जहाँ पर अधिगम प्रक्रिया में अधिगमकर्ता की अपनी पहल तथा प्रयास सम्मिलित रहती है इससे अधिगमकर्ता की रूचि एवं उत्साह बना रहता है तथा वह अपनी अधिगम क्रिया को सहजता पूर्वक कर सकता है।
  2. उन विधियों को अपनाना, जिनमें शिक्षक मुख्य कर्ता होता है
    Incorrect.
  3. कि शिक्षक अधिगमकर्ता के लिए स्वयं निष्कर्ष निकाल हैं
    Incorrect.
  4. परम्परागत व्याख्यात्मक विधियाँ
    Incorrect.

18. निम्नलिखित में से कौन-सा एक सीखने के लिए प्रमुख है?
  1. अर्थ-निर्माण
    Incorrect.
  2. अनुकरण
    Incorrect.
  3. अनुबंधन
    Correct! सीखने के लिए सबसे महत्वपूर्ण तत्व अनुबंधन (परिस्थिति) होती है क्योंकि जितना अच्छा शैक्षणिक वातावरण उपलब्ध होगा अधिगम कार्य उतना ही सुचारू रूप से चलता रहेगा। इसीलिए कक्षा कक्ष का वातावरण शांत एवं लोकतांत्रिक होना चाहिए।
  4. रटकर याद करना
    Incorrect.

19. पियाजे तथा वाइगोत्स्की के अनुसार, एक रचना कक्षा-कक्ष में अधिगम
  1. शिक्षार्थियों द्वारा स्वयं सृजित किया जाता है, जो भूमिका निभाते हैं
    Correct! पियाजे तथा वाइगोत्स्की द्वारा बालक के संज्ञानात्मक विकास की व्याख्या की गई है। इनक अनुसार एक रचनाता कक्षा-कक्ष में अधिगम प्रक्रिया का सृजन छात्र द्वारा स्वयं अपने अध्यापक की सहायता से किया जाना चाहिये जो उनके रचनात अधिगम में सक्रिय भूमिका निभाते है।
  2. शिक्षक द्वारा पुनर्बलन किया जाना
    Incorrect.
  3. शिक्षक द्वारा लिखवाया जाता है तथा शिक्षार्थी नितिन होते हैं
    Incorrect.
  4. उद्दीपक तथा अनुक्रिया के जोड़ से होता है
    Incorrect.

20. निम्नलिखित में से कौन-सा 'आधारभूत सहायता का एक अच्छा उदाहरण है (जिसका आशय है समस्या समाधान को तब तक सिखना जब तक शिक्षार्थी स्वर न कर सके)?
  1. उसे यह बताना कि वह बार-बार प्रयास द्वारा कर सकती है
    Correct! समस्या समाधान के लिए शिक्षक द्वारा विद्यार्थियों से बार-बार प्रयास कराना चाहिए ताकि विद्यार्थियों में स्वयं समस्या के समाधान का कौशल विकसित हो जाए यह प्रक्रिया तब तक चलती रहनी चाहिए जब तक विद्यार्थियों को समस्या समाधान का अधिगम न हो जाय। यह अधिगम या प्रयास आधारभूत सहायता का सबसे अच्छा उदाहरण है।
  2. समस्या का समाधान जल्दी देने के लिए पुरस्कार देना
    Incorrect.
  3. उसे आधा समाधान (हल) किया उदाहरण उपलब्ध करवाना
    Incorrect.
  4. उसे कहना कि जब तक वह समस्या का समाधान नहीं लेती, तब तक घर नहीं जा सकती
    Incorrect.

21. आपकी कक्षा में सीखने की विविध शैलियों वाले बच्चे हैं। उनका आकलन करने के लिए आप उन्हें
  1. कार्यों और परीक्षणों के एक समान सेट देंगे
    Incorrect.
  2. समान अनुदेश देंगे तथा उसके बाद बच्चों द्वारा परीक्षण प्राप्त को के अनुसार उनकी नामित करेंगे
    Incorrect.
  3. विविध प्रकार के कार्य और परीक्षण देंगे
    Correct! कक्षा में विविध शैलियों वाले बच्चों का आकलन करने के लिए उन्हें उनके बौद्धिक क्षमता के आधार पर विभिन्न प्रकार का कार्य देना उपयुक्त होगा तथा उनके द्वारा किए गये कार्यो का परीक्षण करना आवश्यक है ताकि उनका अधिगम कार्य तथा उनके मानसिक क्षमता का विकास सतत चलता रहे।
  4. परीक्षण पूरा करने के लिए एक समान समय देंगे
    Incorrect.

22. आजकल बच्चों की 'गलत धारणाओं को वैकल्पिक धारणाएँ' कहने की एक प्रवृत्ति है। इसे कहा जा सकता है
  1. पहचानना कि बच्चे सोच सकते हैं और उनकी सोच से भिन्न होती है
    Incorrect.
  2. बच्चों की समझ में सूक्ष्म भेद करना और उनका अपन के प्रति निष्क्रिय रहना
    Incorrect.
  3. बच्चों की गलतियों की व्याख्या के लिए मनोहारी शब्द उपयोग करना
    Correct! बच्चों की 'गलत धारणाओं को वैकल्पिक अवधारणा कहने की प्रवृत्ति को बच्चों की गलतियों के लिए मनोहारी शब्द का उपयोग करना कहा जा सकता है। इससे बच्चो में गलत धारणा का विकास होता है।
  4. बच्चों को उनकी सोच में प्रौढ़ों के समान मानना
    Incorrect.

23. निम्नलिखित में से कौन-सा एक माध्यमिक विद्यालय की कक्षा-कक्ष में शिक्षक की भूमिका का सर्वोत्तम/ उचित वर्णन करता है?
  1. व्याख्यान देने के लिए पावर प्वाइंट प्रेजेंटेशन का प्रयोग करना
    Incorrect.
  2. बहु-परिप्रेक्ष्य को निरुत्साहित करना तथा एक-आयामी पर केन्दीभूत होना
    Incorrect.
  3. चर्चाओं के अवसर उपलब्ध कराना
    Correct! माध्यमिक विद्यालय के कक्षा-कक्ष में शिक्षक की एक सशक्त भूमिका होती है। शिक्षक को अपनी सर्वोत्तम उपस्थिति दर्ज कराने के लिए कक्षा-कक्ष में चर्चा के पर्याप्त अवसर उपलब्ध कराने चाहिए ताकि छात्र-शिक्षक के वीच समायोजन में व्यवधान न उत्पन्न हो।
  4. प्रथम स्थान के लिए शिक्षार्थियों को आपस में प्रतिस्पर्धा लिए बढ़ावा देना
    Incorrect.

24. अभिप्रेरणा और अधिगम के बारे में निम्नलिखित में से कौन-सा एक कथन सही है?
  1. अधिगम तभी प्रभावी होता है जब शिक्षार्थी बाहरी का उपयोग करने से प्रेरित हो
    Incorrect.
  2. अधिगम में प्रेरणा की कोई भूमिका नहीं होती
    Incorrect.
  3. अधिगम केवल तभी प्रभावी होता है जब शिक्षार्थियों में प्रेरणा हो- सीखने की अंतर्निहित इच्छा हो
    Correct! अभिप्रेरणा का तात्पर्य कार्य करने का पुनर्बलन होता है। अर्थात वह वाह्य या आन्तरिक बल जो किसी कार्य को करने में रुचि उत्पन्न करे। अभिप्रेरणा से किया गया कार्य प्रभावी होता है अतः अधिगम केवल तभी प्रभावित होगा जब शिक्षार्थियों में भीतरी प्रेरणा हो तथा सीखने की आन्तरिक इच्छा हो।
  4. अधिगम केवल तभी प्रभावित होता है जब शिक्षार्थी रूप से प्रेरित हो-बाह्य कारणों से प्रेरित हो।
    Incorrect.

25. सीखने के बारे में निम्नलिखित कथनों में से कौन-सा एक सत्य है?
  1. सीखना शिक्षार्थी के पूर्व ज्ञान पर आधारित नहीं है
    Incorrect.
  2. सीखना एक निष्क्रिय ग्रहणशील प्रक्रिया है
    Incorrect.
  3. सीखना कौशलों के संचय के समान है
    Incorrect.
  4. सीखने को सामाजिक क्रिया सुविधा देती है
    Correct! सीखना जीवन पर्यंत चलने वाली एक प्रक्रिया है। मनुष्य समाज में रहकर तथा समाज के मानकों, मूल्यों के आधार पर सीखता है। अतः सामाजिक क्रिया सीखने में सुविधा उपलब्ध कराती है तथा मनुष्य के विकास में सहायता प्रदान करती है।

26. निम्नलिखित में से कौन-सी एक महत्वपूर्ण गतिविधि बच्चों को सीखने के लिए सक्षम बनाती है?
  1. संवाद
    Correct! सीखना एक सामाजिक क्रिया का परिणाम है। बालक जितना ज्यादा सामाजिक क्रिया तथा समाज से सम्बन्ध रखेगा उसे उतना ही ज्यादा सीखने का मौका मिलेगा। सामाजिक संवाद बच्चों को सीखने में सबसे ज्यादा सक्षम बनाती है।
  2. पुरस्कार
    Incorrect.
  3. व्याख्यान
    Incorrect.
  4. निर्देश
    Incorrect.

27. विकास के बारे में निम्नलिखित में से कौन-सा एक कथन नहीं है?
  1. विकासात्मक परिवर्तन एक सीधी रेखा में आगे जाते हैं
    Incorrect.
  2. विकास जन्म से किशोरावस्था तक आगे की ओर बढ़ता और फिर पीछे की ओर
    Correct! विकास निरन्तर चलने वाली प्रक्रिया है, जो जन्म से मृत्यु पर्यन्त तक चलती रहती है। अतः दिये गये कथनों में विकास जन्म से किशोरावस्था तक आगे की ओर बढ़ता है, और फिर पीछे की ओर यह कथन गलत है।
  3. विकास भिन्न व्यक्तियों में भिन्न गति से होता है
    Incorrect.
  4. विकास जन्म से किशोरावस्था तक बहुत तीव्र गति से है और उसके बाद रुक जाता है
    Incorrect.

28. मध्य बचपन अवधि है-
  1. जन्म से 2 वर्ष
    Incorrect.
  2. 10 वर्ष के बाद
    Incorrect.
  3. 2 वर्ष से 6 वर्ष
    Incorrect.
  4. 6 वर्ष से 11 वर्ष
    Correct! बाल विकास के दूसरे चरण बाल्यावस्था को मध्य बचपन की अवधि कहा जाता है। बाल्यावस्था का काल 6 वर्ष से 11 वर्ष तक ही होता है। अतः मध्य बचपन के काल की अवधि 6- 11 वर्ष तक की होगी।

29. "किसी व्यक्ति को आकार देने में वातावरण के घटकों की कोई भूमिका नहीं होती, क्योंकि प्रत्येक व्यक्ति की वृद्धि की आनुवंशिक संरचना से निर्धारित होती है।" यह कथन
  1. ठीक है, क्योंकि किसी व्यक्ति की आनुवंशिक संरचना प्रबल होती है
    Incorrect.
  2. ठीक नहीं है, क्योंकि बहुत से शोध यह सिद्ध करते हैं विकास में वातावरण का बड़ा प्रभाव पड़ सकता है।
    Correct! मनोवैज्ञानिक अध्ययनों ने सिद्ध कर दिया है कि बालक के विकास के प्रत्येक पक्ष पर उसके भौतिक, सामाजिक, सांस्कृतिक तथा आर्थिक वातावरण का व्यापक प्रभाव पड़ता है। व्यक्ति का विकास वंशानुक्रम तथा वातावरण की परस्पर अंतःक्रिया का परिणाम होता है। इसलिए यह कहना गलत होगा कि व्यक्ति को आकार देने में वातावरण के घटकों की कोई भूमिका नहीं होती क्योंकि व्यक्ति की वृद्धि की आनुवांशिक संरचना से निर्धारित होती है।
  3. ठीक है, क्योंकि बहुत से शोध यह सिद्ध करते हैं कि पदार्थ ही व्यक्ति के विकास की करता है
    Incorrect.
  4. ठीक नहीं है, क्योंकि वातावरण के घटक किसी व्यक्ति बुद्धि और विकास में कम योगदान करते हैं।
    Incorrect.

30. एक प्रक्रिया है, जिसके माध्यम से मानव शिशु समाज के सक्रिय सदस्य के रूप में निष्यादन करने के लिए आवश्यक कौशलों का अर्जन करना प्रारंभ करता है।
  1. समाजीकरण
    Correct! समाजीकरण वह प्रक्रिया है जिसके माध्यम से मानव शिशु समाज के सक्रिय सदस्य के रूप में निष्पादन करने के लिए आवश्यक कौशलों का अर्जन करना प्रारम्भ करता है।
  2. विकास
    Incorrect.
  3. सीखना
    Incorrect.
  4. परिपक्वता
    Incorrect.

Axact

Currentjosh

We welcome you all on our education platform currentjosh.in. Here we share study materials all free and contents related to education to help each student personally. Our team members efforts a lot to provide quality and useful selected information for particular subjects and particular topics. Stay in touch with us and with our members who works for this welfare education system and get useful and best study material to get selected.

Post A Comment:

0 comments: